हाइड्रोपोनिक्स क्या है | हाइड्रोपोनिक्स खेती कैसे की जाती है

हाइड्रोपोनिक्स क्या है ( Hydroponics kya hai )

वर्तमान वक्त में खेती करने की कई  तरीके आ रहे हैं इसमें से एक नया तरीका है Hydroponics खेती इसमें फसलों की जड़ों को पानी में डूबा कर फसल उत्पादन किया जाता है इस प्रकार की तकनीक को हाइड्रोपोनिक्स कहा जाता है आज हम इस पोस्ट पर आपको Hydroponics तकनीक के बारे में पूरी जानकारी देंगे जिससे कि आप Hydroponics तकनीक को अच्छे से समझ सके चलिए शुरू करते हैं

हाइड्रोपोनिक्स क्या है

जब पौधों की खेती पानी के ऊपर तैरते हुए अवस्था में की जाती है तभी इसे हाइड्रोपोनिक्स कहा जाता है

आज कल खेती का यह आधुनिक तरीका है जिसमे पौधों को किसी मिट्टी में ना उगाकर उन्हें पानी के ऊपर लगाया जाता है जिससे की उनके जड़ पानी में डूबे होते है और पानी से ही घुले अवस्था में पोसक पदार्थ प्राप्त करते हैं, खेती का यह तकनीक Hydroponics कहलाती हैं

इसमें अच्छे भूमि का होना आवश्यक नही हैं, सिर्फ पानी के मदद से पूरी तरह खेती की जाती है, आजकल इस प्रकार की खेती को आर्गेनिक खेती के जैसे की जा रही है जिसमे natural resource का उपयोग कर अधिक और अच्छी किस्म का फसल लिया जाता है 

हाइड्रोपोनिक्स खेती की खोज किसने की

कैलिफोर्निया की एक प्रोफेसर जिनका नाम w.f. gariak है

ने हाइड्रोपोनिक्स खेती खोज किया था

हाइड्रोपोनिक्स खेती कैसे की जाती है

इस विधि में पौधों को पानी के ऊपर ऐसा लटकाया जाता है कि पौधे का तना और शाखाएं पानी के ऊपर हो और पौधे की जड़ पानी में डूबी हुई हो

 इस अवस्था में पौधे को सूर्य की प्रकाश द्वारा प्रकाश संश्लेषण करने का अवसर मिलता है इसके अलावा पौधे को जल द्वारा ही खनिज पदार्थ घोल कर दिया जाता है जिससे कि पौधे को मृदा की कमी महसूस नहीं होती और वहां सामान्य पेड़ पौधे जैसा विकास करता ह

हाइड्रोपोनिक्स खेती में ध्यान देने योग्य बातें

कृषि के लिए मिट्टी का पीएच एक निश्चित पीएच पर ही काम करता है उसी प्रकार जब हम हाइड्रोपोनिक्स खेती करते हैं तब हमें पीएच मेंटेन करना पड़ता है

पौधों के विकास के लिए निश्चित मात्रा में माइक्रोन्यूट्रिएंट्स और मैक्रोन्यूट्रिएंट्स अवश्यकता होती है  इसलिए जब पौधों को न्यूट्रिएंट्स पदार्थ देना हो तब इसकी सही मात्रा देना आवश्यक होता है

जब हाइड्रोपोनिक्स तकनीक में न्यूट्रिएंट्स को पानी में घोल कर दिया जाता है और इस पानी का जब पौधे द्वारा उपयोग किया जाता है तब इस पानी को दोबारा उपयोग करने के पहले इसका फ़िल्टर करना बहुत आवश्यक है

हाइड्रोपोनिक्स का लाभ 

  • जिन स्थानों पर मिट्टी की अनुपलब्धता हो या मिट्टी पौधों के लायक ना हो तब वहां हाइड्रोपोनिक्स बहुत ज्यादा लाभदायक होती है
  • महानगरों में जहां बड़े-बड़े बिल्डिंग होते हैं वहां पर हाइड्रोपोनिक्स द्वारा छोटे पौधे लगाए जा सकते हैं जिससे मौसमी सब्जियां और फल प्राप्त किया जा सकता है
  • हाइड्रोपोनिक तकनीक से लगाए गए पौधों में विकास बहुत जल्दी होता है इसके अलावा उत्पादन भी बहुत अधिक प्राप्त होता है
  • हाइड्रोपोनिक्स मे लगाए गए पौधे में रोग बहुत कम फैलता है और तीव्र प्रजनन क्षमता भी होता है

हाइड्रोपोनिक्स तकनीक की चुनौतियाँ

  • हाइड्रोपोनिक तकनीक जब प्रारंभ में इसका सेटअप किया जाता है तब खर्चा बहुत ज्यादा होता है
  • इस तकनीक में 24 घंटे पानी प्रवाहित करने के लिए पक्का चलना जरूरी होता है इसलिए बिजली या ईंधन की आवश्यकता बहुत जरूरी है
  • हाइड्रोपोनिक तकनीक फसल उत्पादन के लिए बहुत ज्यादा तकनीकी दक्षता की आवश्यकता नहीं होती बस इसमें आपको फसल के उत्पादन किए बेसिक समझ होना आवश्यक है

” हाइड्रोपोनिक्स क्या है ” के बारे आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में जरूर क्वेश्चन पूछे हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा, आप हमारे वेबसाइट vigyantk.com पर यू ही आते रहे जहाँ पर हम विज्ञान , प्रोद्योगिकी, पर्यावरण औऱ कंप्यूटर जैसे विषयो पर जानकारी साझा करते है

FAQ – हाइड्रोपोनिक्स क्या है

Q हाइड्रोपोनिक्स क्या है

 A पौधों को पानी में उगाना हाइड्रोपोनिक्स कहलाता है

Q हाइड्रोपोनिक की खोज किसने की

A एक प्रोफेसर  w.f. gariak ने खोज  की

Q हाइड्रोपोनिक्स संबंधित है।

हाइड्रोपोनिक्स खेती कितने की है जिसमें फसलों को जमीन में ना लगा कर पानी के ऊपर तेरा कर लगाया जाता है इस स्थिति में  फसलों के  जड़े पानी पर टिकी हुई होती है

Q हाइड्रोपोनिक प्रणाली कैसे काम करता है

A इस जल प्रणाली में पानी को निरंतर साफ कर वापस पौधों को दिया जाता है सीधा उन की जड़ों पर

Q हाइड्रोपोनिक की परिभाषा क्या है?

जब फार्मिग में पौधों को के ऊपर उगाया जाता है तब यह हाइड्रोपोनिक कहलाता है

अन्य भी पढ़े>>

Share this

Leave a Comment

vigyantk.com