Antivirus क्या है | What is Antivirus in Hindi

Antivirus क्या है , एंटीवायरस कितने प्रकार के होते हैं? , Computer में Antivirus होने के फायदे 

Antivirus क्या है-एंटीवायरस एक कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर है जो कंप्यूटर और उपयोगकर्ता को वायरस, मैलवेयर, ट्रोजन्स और अन्य कंप्यूटर के खतरों से सुरक्षा प्रदान करता है। यह सॉफ़्टवेयर अपडेट तकनीकों का उपयोग करके कंप्यूटर की सुरक्षा को मजबूत करता है,

नई  वायरसों को पहचानता है और संदिग्ध  फ़ाइलों और लिंकों को सेलेक्ट करके उपयोगकर्ता को सुरक्षित रखता है। एंटीवायरस सुरक्षा लेयरों का उपयोग करके कंप्यूटर और उपयोगकर्ता को आसानी से उपयोग करने की सुविधा भी प्रदान करता है।

Contents hide

Antivirus क्या है

एंटीवायरस एक सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर सिस्टम और नेटवर्क को कंप्यूटर वायरस जैसी खतरनाक इन्फेक्शन से बचाने के लिए डिज़ाइन किया गया होता है। एंटीवायरस सॉफ्टवेयर उपयोगकर्ताओं के कंप्यूटर सिस्टम में खतरनाक सॉफ्टवेयर और वायरसों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है 

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर वायरस जैसे खतरनाक संचारों की खोज और इन्हें नष्ट करने के लिए तकनीकों का उपयोग करता है। यह सॉफ्टवेयर नई वायरसों को खोजने और उन्हें नष्ट करने के लिए नवीनतम डेटाबेस अपडेट करता है ताकि उपयोगकर्ताओं को सबसे नवीनतम सुरक्षा उपयोग में लाया जा  सके।

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर उपयोगकर्ताओं को कंप्यूटर वायरस और मैलवेयर, ट्रोजन, वर्म, स्पाइवेयर और अन्य खतरनाक संचारों से सुरक्षा प्रदान करता है। इसके अलावा, यह सॉफ्टवेयर उपयोगकर्ताओं को सदिग्ध गतिविधियों से भी बचाता है 

Computer में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर काम कैसे करता है

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में वायरस, मैलवेयर, ट्रोजन, और अन्य कंप्यूटर संक्रमणों को पहचानने और हटाने में मदद करता है। यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के सिस्टम और डेटा की सुरक्षा बनाए रखने के लिए तैयार किया जाता है। एंटीवायरस सॉफ्टवेयर निम्न तरीको से  कार्यों को करता है:

  1. सतर्कता: एंटीवायरस सॉफ्टवेयर नियमित अद्यतन और स्कैनिंग के माध्यम से कंप्यूटर की सतर्कता बनाए रखता है। यह विभिन्न संक्रमणों को पहचानने के लिए साइनेचर डेटाबेस का उपयोग करता है।
  2. स्कैनिंग: एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के फ़ाइल्स, फ़ोल्डर्स, और स्टोरेज को स्कैन करता है ताकि संदिग्ध या इन्फेक्टेड फ़ाइलों को पहचान सके।
  3. पहचान और हटाना: यदि एंटीवायरस सॉफ्टवेयर किसी संक्रमित फ़ाइल या प्रोग्राम को पहचानता है, तो यह उसे कंप्यूटर से हटा देता है या उसे करंटीन में रखता है ताकि वह इन्फेक्शन  फ़ैलाने से बच सके  

एंटीवायरस कितने प्रकार के होते हैं?

एंटीवायरस कई प्रकार के होते हैं। निम्नलिखित कुछ प्रकारों में से कुछ प्रमुख हैं:

  1. सिग्नेचर-आधारित एंटीवायरस: यह एंटीवायरस सॉफ्टवेयर वायरस के सिग्नेचर (यानि खाका) को खोजता है और उसे उसके डेटाबेस में खोजता है। यदि सिग्नेचर उपलब्ध होता है, तो एंटीवायरस सॉफ्टवेयर वायरस को नष्ट करने के लिए आवश्यक कदम उठाता है।
  2. बहु-इंजन एंटीवायरस: यह एक संयुक्त एंटीवायरस होता है जो अन्य एंटीवायरस सॉफ्टवेयरों के साथ मिलकर काम करता है। इस प्रकार का एंटीवायरस सॉफ्टवेयर सुरक्षा उन संगठनों के लिए अधिक उपयोगी होता है जो बहुत से कंप्यूटरों का प्रबंधन करते हैं, जैसे कि बैंक या व्यापारी जिनके पास कई कंप्यूटर होते हैं।
  3. शीघ्र आधारित एंटीवायरस: यह एक नया प्रकार का एंटीवायरस होता है जो सीधे मेमोरी में स्थानांतरित होता है। यह कंप्यूटर में रहते हुए वायरस और मैलवेयर जैसी प्रोग्राम की जाँच करता है

काम के आधार पर एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कई प्रकार के होते हैं

  1. रीयल-टाइम एंटीवायरस: यह सॉफ्टवेयर निरंतर कंप्यूटर सिस्टम को स्कैन करता है और खतरनाक प्रोग्राम को तुरंत ब्लॉक करता है। यह सॉफ्टवेयर आपको नई वायरसों के खिलाफ बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है।
  2. मैलवेयर एंटीवायरस: यह सॉफ्टवेयर आपके ईमेल सेवा को स्कैन करता है और मैलवेयर और स्पैम संदेशों को तुरंत ब्लॉक करता है।
  3. सिस्टम एंटीवायरस: यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर सिस्टम में स्थापित होता है और सिस्टम फ़ाइलों को स्कैन करता है। इसे फिक्स सिस्टम समय पर रन किया जा सकता है या यूजर की इच्छा के अनुसार भी चलाया जा सकता है।
  4. मोबाइल एंटीवायरस: यह सॉफ्टवेयर स्मार्टफोन और टैबलेट जैसी मोबाइल डिवाइसों के लिए डिज़ाइन किया गया होता है। यह मोबाइल फ़ोन में मौजूद वायरस, स्पैम संदेश और अन्य खतरनाक संचारों से उपयोग

Antivirus को Update करना क्यूँ जरुरी है

एंटीवायरस को अपडेट करना आवश्यक है क्योंकि नए वायरस और कंप्यूटर संक्रमणों के खिलाफ पहचान  और सुरक्षा तत्वों को जोड़ने के लिए उपयोगी होता है। निम्नलिखित कारणों से एंटीवायरस को नवीनतम अपडेट रखना आवश्यक होता है:

  1. नए वायरसों की पहचान: एंटीवायरस के नवीनतम अपडेट स्कैनिंग तकनीकों और साइनेचर डेटाबेस को  Update करता है जिससे नए वायरसों की पहचान करने में सक्षम होता है।
  2. सुरक्षा की तत्परता: नए इफेक्शन  और सुरक्षा खतरों के खिलाफ सुरक्षा को बनाए रखने के लिए एंटीवायरस को अपडेट किया जाता है। इससे आपके कंप्यूटर और डेटा को नवीनतम  वायरस के लिए सुरक्षा सुविधाएं प्राप्त होती हैं।
  3. सुरक्षित होना : नवीनतम अपडेट करने से आपकी सिस्टम को और  अधिक सुरक्षित रखा जा सकता है क्योंकि इसमें पहले के बग और सुरक्षा कमी को ठीक करने के लिए अपडेट आवश्यक  होते हैं।
  4. नयी सुरक्षा तकनीकों का उपयोग: एंटीवायरस को अपडेट करने से  नए प्रकार के वायरस को डिटेक्शन के तरीके जुड़ जाते है जो इन्फेक्शन को रोकने में कारगर होते है

Computer में Antivirus होने के फायदे 

  1. कंप्यूटर और डेटा को हानिकारक साइबर हमलों से बचाता है।
  2. वायरस और मैलवेयर संक्रमणों से सुरक्षा प्रदान करता है।
  3. नवीनतम सुरक्षा तकनीकों का उपयोग करके कंप्यूटर की सुरक्षा मजबूत करता है।
  4. अपडेट  साइनेचर डेटाबेस के बारे में जानकारी प्रदान करके नए वायरसों की पहचान करता है।
  5. संदेहास्पद फ़ाइलों और लिंकों को पहचानता है।
  6. ब्रोउसिंग  के दौरान मैलवेयर और फिशिंग से सुरक्षा प्रदान करता है।
  7. कंप्यूटर प्रदर्शन को प्रभावित किए बिना सुरक्षा प्रदान करता है।
  8. संक्रमणों को रोकने के लिए विभिन्न सुरक्षा लेयरों का उपयोग करता है।
  9. सिस्टम को सुरक्षित रखकर उपयोगकर्ता की निजी जानकारी की रक्षा करता है।
  10. कंप्यूटर और उपयोगकर्ता को असानिं से  उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है।

निम्नलिखित एंटीवायरस सॉफ्टवेयर वर्ष 2023 के लिए प्रमुख माने जाते हैं:

  1. Bitdefender
  2. Norton
  3. Quick heal
  4. np
  5. Kaspersky
  6. McAfee
  7. Avast
  8. Avira
  9. Trend Micro
  10. ESET
  11. AVG
  12. Malwarebytes

यह सॉफ्टवेयर वायरसों, मैलवेयर, रूटकिट्स, ट्रोजन, और अन्य कंप्यूटर infection  के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करते हैं। कृपया ध्यान दें कि यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर और आपकी आवश्यकताओं पर निर्भर करेगा, इसलिए आपको अपनी विशेषताओं और आवश्यकताओं के आधार पर एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का चयन करना चाहिए।

वायरस और एंटीवायरस में क्या अंतर है

वायरस और एंटीवायरस दोनों कंप्यूटर से सम्बंधित वर्ड्स  हैं, लेकिन इनमें अंतर है।

वायरस -एक हानिकारक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो  किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में गलत तरीके से प्रवेश करता है और  स्टोर किया गया डेटा, फ़ाइलें या सिस्टम सॉफ्टवेयर  को नुकसान पहुंचाता है। वायरस साधारणतः इंटरनेट या COMUNICATION  के माध्यम से फैलते हैं और उन्हें हटाने के लिए एंटीवायरस इस्तेमाल किया जाता है।

एंटीवायरस– एक सुरक्षा प्रोग्राम होता है जो कंप्यूटर सिस्टम में वायरस और अन्य हानिकारक सॉफ्टवेयरों के खिलाफ सुरक्छा  प्रदान करता है। यह समय-समय पर सिस्टम में स्कैनिंग करता है ताकि वायरस और अन्य हानिकारक सॉफ्टवेयर से बचा जा सके। एंटीवायरस सॉफ्टवेयर बहुत से फ़ाइल और संग्रहित डेटा को भी स्कैन करता है, ताकि नए वायरस को रोका जा सके।

एंटीवायरस के कुछ मुख्य प्रकार हैं:

  1. सिग्नेचर-आधारित एंटीवायरस
  2. बहु-इंजन एंटीवायरस
  3. संबद्ध एंटीवायरस
  4. रीयल-टाइम एंटीवायरस
  5. क्लाउड-आधारित एंटीवायरस
  6. संगठित टेस्टिंग एंटीवायरस
  7. डीप-लर्निंग एंटीवायरस

ये सभी प्रकार अलग-अलग तरीकों से कंप्यूटर वायरसों के खिलाफ संरक्षण प्रदान करते हैं।

सिग्नेचर आधारित एंटीवायरस-

एक प्रकार का एंटीवायरस है जो फाइलों और प्रोग्राम की सिग्नेचर यानि उनकी डिजिटल हस्ताक्षरों की जांच करता है। जब कोई फाइल या प्रोग्राम  आपके सिस्टम में इंस्टॉल होता है, तो सिग्नेचर-आधारित एंटीवायरस उसकी सिग्नेचर को स्कैन करता है और जांचता है कि यह सिस्टम में सही तरीके से इंस्टॉल हो रहा है या नहीं। यदि यह सही तरीके से इंस्टॉल नहीं हो रहा है या संदिग्ध है, तो एंटीवायरस उसे ब्लॉक कर देता है।

सिग्नेचरआधारित एंटीवायरस काफी पुरानी तकनीक है और यह अक्सर नए और अज्ञात वायरसों को पहचानने में असफल हो जाता है। इसलिए, आजकल के अधिकांश एंटीवायरस सॉफ्टवेयर अन्य प्रकार के एंटीवायरस के साथ संयुक्त रूप से काम करते हैं ताकि अधिक ताकतवर और सुरक्षित हों।

बहु-इंजन एंटीवायरस–

एक प्रकार का एंटीवायरस है जो कई अलग-अलग तकनीकों का उपयोग करते हुए आपके सिस्टम को सुरक्षित रखता है। इसमें अधिकतर एंटीवायरस सॉफ्टवेयर एक से अधिक इंजन या स्कैनर का उपयोग करते हुए आपके सिस्टम में वायरस, मैलवेयर और अन्य कंप्यूटर virus को खोजते हैं।

बहु-इंजन एंटीवायरस- एक संयुक्त समाधान है जो अलग-अलग सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हुए वायरस जैसे मालवेयर, ट्रोजन, वॉरम और स्पाम जैसी अन्य धोखाधड़ी को पहचानते हैं। इसके अलावा, बहु-इंजन एंटीवायरस सॉफ्टवेयर की स्कैनिंग क्षमता भी बेहतर होती है जो इसे अधिक असरदार बनाती है।

संबद्ध एंटीवायरस-

एक प्रकार का सुरक्षा सॉफ्टवेयर है जो आपके सिस्टम को वायरस और अन्य खतरनाक संगठनों से सुरक्षित रखता है। यह एंटीवायरस सॉफ्टवेयर एक इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से संचार करता है, ताकि आपके सिस्टम को update  रखा जा सके और नवीनतम संबंधित वायरस सिग्नेचरों को डाउनलोड कर सके।

इस तरह के एंटीवायरस सॉफ्टवेयर समय-समय पर अपडेट किए जाने वाले सॉफ्टवेयर के साथ आते हैं जो आपके सिस्टम में वायरस से बचने में मदद करते हैं। यह सॉफ्टवेयर विभिन्न स्तरों पर सुरक्षा permision  के साथ आता है, जिसमें शामिल हैं- फ़ायरवॉल, बैकअप और डिस्क एन्क्रिप्शन जैसे अन्य सुरक्षा उपकरण।

रीयल-टाइम एंटीवायरस –

एक प्रकार का सुरक्षा सॉफ्टवेयर होता है जो आपके सिस्टम को वायरसों और खतरनाक सॉफ्टवेयर से सुरक्षित रखता है। इस सॉफ्टवेयर के  एल्गोरिथ्म, वायरस और मैलवेयर जैसी को खोजते हैं और उन्हें तुरंत ही रोकते हैं।

रीयल-टाइम एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आपके सिस्टम में निश्चित समय-सीमा में स्कैन करता है जब आप इंटरनेट या फाइलों को डाउनलोड करते हैं। इसका मुख्य लक्ष्य आपके सिस्टम में इन्फेक्शन  रोकना है जब आप इंटरनेट से कुछ डाउनलोड करते हैं या फाइलें खोलते हैं। रीयल-टाइम एंटीवायरस सॉफ्टवेयर सभी इंटरनेट और अधिकृत साइटों पर सुरक्षा चेक  करता है 

क्लाउडआधारित एंटीवायरस-

सॉफ्टवेयर एक ऐसी सुरक्षा होती है जो कंप्यूटर और स्मार्टफोन जैसे उपकरणों के लिए उपलब्ध होती है। इस सेवाओं में, आपके सिस्टम और डेटा को स्टोर  नहीं किया जाता है बल्कि आपके उपकरणों के डेटा को क्लाउड सर्विस  के द्वारा  स्कैन किया जाता है।

क्लाउड-आधारित एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आपके सिस्टम को इन्फेक्शन और खतरनाक सॉफ्टवेयर से सुरक्षित रखने के लिए बहुत सारे   तकनीकों का उपयोग करता है। यह सुरक्षा सेवा अपने  सिस्टम को ताकतवर ऑनलाइन स्कैनिंग टूल  से लैस होता है। इस सॉफ्टवेयर को लगातार अपडेट करना आवश्यक होता है ताकि आपके सिस्टम को सबसे नवीन वायरस डेटाबेस और सुरक्षा तकनीकों का लाभ मिल सके।

संगठित टेस्टिंग एंटीवायरस

एक तकनीक है जो वायरस और मैलवेयर के खतरे को पहचानने और नष्ट करने के लिए उपयोग की जाती है। इस तकनीक में एक विशेष समूह विशेषज्ञों द्वारा संगठित रूप से विभिन्न वायरस परीक्षणों के लिए सॉफ्टवेयर को जांचा जाता है।

संगठित टेस्टिंग एंटीवायरस का उद्देश्य सॉफ्टवेयर को सुरक्छित  रूप से परीक्षण करना है, जिससे उसे वायरस और मैलवेयर से संरक्षित बनाया जा सके। इस तकनीक में विभिन्न प्रकार  तकनीक का उपयोग किया जाता है, जैसे कि स्टेटिक एनालिसिस, डायनामिक एनालिसिस, ब्लैक बॉक्स टेस्टिंग और व्हाइट बॉक्स टेस्टिंग।

इस तकनीक का उपयोग करके, संगठित टेस्टिंग एंटीवायरस सॉफ्टवेयर को अधिक सुरक्षित बनाने में मदद करता है और उसे नए वायरस और मैलवेयर से बचाने में मदद करता है। 

डीप-लर्निंग एंटीवायरस –

एक  ऎसा टेक्नोलॉजी  है जो वायरस और मैलवेयर जैसी खतरनाक सॉफ्टवेयर को खोजने और हटाने के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह एक ऐसी तकनीक है जो मशीन लर्निंग के आधार पर काम करती है और इसमें कंप्यूटर अल्गोरिथ्म के माध्यम से वायरस के पैटर्न और सिग्नेचर को स्कैन किआ जाता है।

डीप-लर्निंग एंटीवायरस का उद्देश्य नई और हानिकारक सॉफ्टवेयर को खोजने के लिए होता है। इस तकनीक का उपयोग करके, एक स्टोर डेटाबेस में से पैटर्न का उपयोग करते हुए, यह संग्रहीत डेटा के आधार पर नई हानिकारक  सॉफ्टवेयर को खोज सकता है और उसे हटाया  सकता है। इसमें इंटेलीजेंस   सिस्टम होता है जो स्वतः अपडेट होता है और सिस्टम के एक्टिविटी को ट्रैक करता है ताकि खतरे से बचा जा  सके और नई हानिकारक सॉफ्टवेयर को पहचानने  के लिए तैयार हो सके

और भी पढ़े >


FAQ- Antivirus क्या है

Q इसे एंटीवायरस क्यों कहा जाता है?

एंटीवायरस को उसके कार्य के कारण एंटीवायरस कहा जाता है, यानी वायरसों को रोकने और हटाने के लिए। यह सॉफ़्टवेयर कंप्यूटर और उपयोगकर्ता को सुरक्षा प्रदान करने का महत्वपूर्ण कारक है।

Q वायरस और एंटीवायरस में क्या अंतर है?

वायरस: एक हानिकारक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो खुद को विस्तारित करने के लिए अन्य प्रोग्रामों में प्रविष्ट करता है और कंप्यूटर के संक्रमित होने का कारण बनता है।
एंटीवायरस: एक सॉफ़्टवेयर होता है जो कंप्यूटर सिस्टम को वायरसों और अन्य कंप्यूटर संक्रमणों से सुरक्षित रखने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। यह वायरसों को पहचानता है, उन्हें हटाने या बाधाकारी कार्रवाई करने की क्षमता रखता है।

Q एंटीवायरस कितने प्रकार के होते हैं?

सिग्नेचर-आधारित एंटीवायरस:
एनोमली आधारित एंटीवायरस:
बहुत स्तरीय एंटीवायरस:

Q एंटीवायरस क्या है?

एंटीवायरस एक सॉफ़्टवेयर है जो कंप्यूटर सिस्टम को वायरसों, मैलवेयर, ट्रोजन्स, रूटकिट्स और अन्य कंप्यूटर संक्रमणों से सुरक्षित रखने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। यह वायरसों की पहचान करता है, उन्हें हटाने या बाधाकारी कार्रवाई करने की क्षमता रखता है।

Q 5एंटीवायरस के नाम

Norton Antivirus
McAfee Antivirus
Avast Antivirus
Kaspersky Antivirus
Bitdefender Antivirus

Q एंटीवायरस सॉफ्टवेयर क्या है?

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर एक प्रकार का कंप्यूटर सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर पर वायरस, मैलवेयर, ट्रोजन, एडवेयर, रूटकिट और अन्य कंप्यूटर संक्रमणों से बचने में मदद करता है। यह सॉफ्टवेयर इनफेक्टेड फ़ाइलों या डिवाइस से इनफेक्शन को डिटेक्ट करता है और उन्हें कंप्यूटर सिस्टम से हटाने में मदद करता है।

Q एंटीवायरस के उपयोग

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर के उपयोग से कंप्यूटर इन्फेक्शन से बचाया जा सकता है। इसके उपयोग से कंप्यूटर और नेटवर्क सुरक्षा मजबूत होती है

Share this

Leave a Comment