सिकल सेल  क्या है | sickle cell disease in hindi 

सिकल सेल  क्या है (sickle cell disease in hindi )

जब मानव शरीर पर पाया जाने वाला आरबीसी जोकि गोलाकार का पाया जाता है इस आरबीसी का आकार आकार हसियकार हो जाता है जिससे आरबीसी मैं ऑक्सीजन और हिमोग्लोबिन की कमी हो जाती है जिसे सिकल सेल  कहते हैं

सिकल सेल  कैसे होता है

सिकल सेल  कोई  बैक्टीरियल या वायरस से फैलने वाली रोग नहीं है बल्कि यह एक अनुवांशिक रोग है जिसके द्वारा सिकल सेल एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक फैल जाता है

सिकल सेल  के लक्षण

  • जिस किसी भी व्यक्ति को सिकल सेल एनीमिया होता है उसका शरीर बहुत कमजोर,पतला, वजन घटना हो जाता है
  • पूरे शरीर में थकान और. आलस्य  होता है और साथ-साथ कई और बीमारियां भी होने की संभावना  होती है

सिकल सेल कैसे कमजोर बनाती है

हमारे बॉडी में क आरबीसी में hb पाया जाता है और यही hb जब आरबीसी में बहुत कम मात्रा में हो तब आरबीसी ऑक्सीजन का परिवहन बहुत कम मात्रा में कर पाता है जिसकी वजह से इंसान का पूरा शरीर कमजोर हो जाता है और पतला भी हो जाता है 

सिकल सेल से क्या बीमारी होती है

इससे सिकल सेल एनीमिया बीमारी होती है

सिकल सेल  कैसे ज्ञात की जाती है

सिकल सेल एनीमिया को पैथोलॉजी में ब्लड टेस्ट के जरिए से ज्ञात की जाती है

सिकल सेल किसको होती है

जब किसी की पूर्वजों में सिकल सेल एनीमिया पाया जाता है तब उसकी आने वाली पीढ़ियों न मैं भी सिकल सेल एनीमिया होने की संभावना होती है इसमें वाहक और प्रभावित वाली भूमिका युक्त लोग होते हैं

सिकल सेल  का उपचार

सिकल सेलका कोई इलाज नहीं है इससे प्रभावित व्यक्तियों को अच्छे डॉक्टर से मिलना चाहिए आमतौर पर उन्हें फोलिक एसिड और मल्टीविटामिन का दवाई दिया जाता है जिससे कि उनके शरीर में सभी क्रियाएं समान रूप से होते रहे

और भी पढ़े >

Share this

Leave a Comment

Don`t copy text!