प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं | प्रकाश संश्लेषण की – परिभाषा, फार्मूला

admin

BLOG

प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं

प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में पौधे सूर्य के प्रकाश ऊर्जा का उपयोग कर वायुमंडल से कार्बन डाइऑक्साइड लेकर और भूमि से पानी और खनिज पदार्थ को को खींचकर कर अपने लिए भोजन बनाती है जिसे प्रकाश संश्लेषण कहा जाता है , प्रकाश संश्लेषण क्रिया द्वारा भूमि से जड़ ( जड़ की आतंरिक संरचना ) द्वारा खींचे गए पानी से ऑक्सीजन वातावरण में छोड़ी जाती है

सभी जीवो में अपनी जैविक आवश्यकता को पूरी करने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है और यह ऊर्जा हमें खाद्य पदार्थ से प्राप्त होती है पौधों में प्राप्त होने वाले ऊर्जा उन्हें प्रकाश संश्लेषण से प्राप्त होती है

प्रकाश संश्लेषण की परिभाषा

प्रकाश संश्लेषण एक जीव रासायनिक आधारित क्रिया है जिसमें हरे पौधे द्वारा सूर्य की प्रकाश को ग्रहण कर वायुमंडल द्वारा ली गई CO2 के साथ और उपस्थित जल  के साथ क्रिया कर कार्बोहाइड्रेट जैसे कार्बनिक भोज्य पदार्थ का निर्माण करती है , और पानी का उपयोग करने के बाद ऑक्सीजन को वायुमंडल में छोड़ा जाता है

प्रकाश संश्लेषण का फार्मूला क्या है?

6 CO2 +12H2O + प्रकाश + क्लोरोफिल → C6H12O6 + 6 O2 + 6 H2O

प्रकाश संश्लेषण के लिए पौधों में आवश्यक तत्व

  • पौधे सूर्य प्रकाश की उपस्थिति में ही अपने लिए कार्बनिक भोज्य पदार्थ का निर्माण करते हैं किंतु इन सब से भी सबसे महत्वपूर्ण उसमें क्लोरोफिल का होना है जो सिर्फ पौधों में पाया जाता है क्लोरोफिल के कारण पौधों की पत्तियों का रंग हरा होता है ,क्लोरोफिल को हिंदी में हरित लवक कहा जाता है
  • क्लोरोफिल के कई प्रकार पाए जाते हैं परंतु इसमें से मुख्य दो की आवश्यकता होती है प्रकाश संश्लेषण में  थायलेक्वाइड नामक संरचना  क्लोरोफिल में पाया जाता है और थायलेक्वाइड में ग्रुप में अणुओ के समान रचना को क्वाटोसोम नाम दिया गया है
  •  प्रोकैरियोटिक पौधे में जिनमें पूर्ण विकसित कोशिका तंत्र का अभाव होता है उनमें थायलेक्वाइड क्लोरोफिल में ना होकर जीव द्रव में बिखरा हुआ होता है
  • दोस्तों हमने बात की क्लोरोफिल की परिभाषा के बारे में और हमें जाना प्रकाश संश्लेषण में क्लोरोफिल मुख्य भूमिका निभाता है तथा यह भी जाना की क्लोरोफिल में पाया जाने वाला मुख्य तत्व मैग्निशियम होता है 

प्रकाश संश्लेषण संबंधी सभी खोज

  • सर्वप्रथम अरस्तु ने कहा था कि पौधे अपना भोजन जड़ों से प्राप्त करते हैं
  • स्टीफन हेल्स ने 1772 में बताया की पेड़ पौधों की पत्तियां वायुमंडल से वायु को ग्रहण कर भोजन बनाती है
  • प्रिस्टल नामक व्यक्ति नेसबसे पहले बताया पौधे द्वारा वातावरण शुद्ध वायु का संचार होता है
  • Enjen  हाउस ने बताया पेड़ों की पत्तियों में उपस्थित हरा रंग प्रकाश की उपस्थिति में वायु को शुद्ध करता है
  • सेनेबियर ने बताया कि हरे पौधे प्रकाश की उपस्थिति मैं वायुमंडल से कार्बन  डाइऑक्साइड लेते हैं और ऑक्सीजन गैस छोड़ते हैं

conclusion -प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं

यह सभी पेड़ो में होने वाला आवश्यक क्रिया है जिसमे ऑक्सीजेन गैस वातावरण में स्त्रावित होती है और इस क्रिया द्वारा पेड़ पौधे भोजन का निर्माण करते है

” प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं ” के बारे आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में जरूर क्वेश्चन पूछे हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा, आप हमारे वेबसाइट vigyantk.com पर यू ही आते रहे जहाँ पर हम विज्ञान , प्रोद्योगिकी, पर्यावरण औऱ कंप्यूटर जैसे विषयो पर जानकारी साझा करते है

और भी पढ़े >

Share this

Leave a Comment

vigyantk

VIGYANTK.COM : बायोलॉजी की जानकारी देने वाला आपका पसंदीदा ब्लॉग है। यहां आपको जीव विज्ञान के रोचक तथ्यों, नवीनतम शोध और उपयोगी जानकारी आपको सरल भाषा में मिलेगी।

biology hot view

कोशिका

कोशिका विभाजन

गुणसुत्र

Contact

vigyatk.com

bilaspur ( chattisgarh)