विभवमापी क्या है ।विभवमापी का सिद्धांत | Potentiometer kya hai 

विभवमापी क्या है

विभवमापी एक ऐसा यंत्र है जिसके द्वारा किन्ही दो सेलो की बीच विद्युत वाहक बल की तुलना की जाती है इसके अलावा किसी विद्युत धारा परिपथ में इन्हीं दो बिंदुओं के बीच में विभवांतर मापने के लिए इसका उपयोग होता है

विभवमापी का सिद्धांत

यदि किसी एक समान अनुप्रस्थ परीछेत्र वाले तार में एक नियत समय तक अगर धारा प्रवाहित की जाती हो तब उस तार के दो बिंदुओं के बीच में विभवांतर उत्पन्न हो जाता है यह उत्पन्न विभवांतर  उस  तार के लंबाई की अनुक्रमानुपाती होता है

यदि किसी L लंबाई की तार जिसका प्रतिरोध R और तथा अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल A है, तब ohms के नियम के अनुसार ,विभवमापी का सूत्र

विभवमापी का सूत्र क्या होता है?

V=IR

किसलिए  विभवमापी का उपयोग किया जाता है

विभवमापी के द्वारा किसी सेल के  आंतरिक प्रतिरोध को भी मापा जा सकता है

विभवमापी की विभव प्रवणता क्या है

किसी विभवमापी की तार की एकांक लंबाई में विभव का जो पतन होता है वह विभव प्रवणता कहलाता है

विभवमापी के उपयोग

  1. किसी दो सेलो के बीच में विद्युत वाहक बल का तुलना करना
  2. किसी सेल का आंतरिक प्रतिरोध ज्ञात करना
  3. किन्ही दो प्रतिरोधों के बीच में प्रतिरोध का तुलना करना
  4. विभवमापी के द्वारा ताप विद्युत वाहक बल भी ज्ञात किया जाता है

विभवमापी की सुग्राहिता क्या है

जब विभवमापी द्वारा अल्प विद्युत वाहक बल या अल्प विभांतर का शुद्धता पूर्वक मापन किआ जाय तब यह विभवमापी की सुग्राहिता कहलाता है

CONCLUSION –

हमारा यह पोस्ट विभवमापी के बारे इ था जिसमे हमने आपको बताया विभवमापी किसे कहते है , जिसमे हमने विभवमापी का सिद्धांत क्या है और यह कैसे काम करता है इस बारे में चर्चा की

” Potentiometer ” के बारे आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में जरूर क्वेश्चन पूछे हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा, आप हमारे वेबसाइट vigyantk.com पर यू ही आते रहे जहाँ पर हम विज्ञान , प्रोद्योगिकी, पर्यावरण औऱ कंप्यूटर जैसे विषयो पर जानकारी साझा करते है

अन्य भी पढ़े>>

Share this

Leave a Comment