एक बीज पत्री जड़ की आंतरिक संरचना

एक बीज पत्री जड़ की संरचना

हमने अपने एक पोस्ट पर जड़ की संरचना के बारे में बताया है, मैंने आपको बताया है कि पेड़ पौधों के आधार पर जड़ दो प्रकार के होते हैं एक बीज पत्री जड़ और द्विबीजपत्री जड़

इस पोस्ट पर हम एक बीजपत्री जड़ की विशेषता के बारे में बात करेंगे

  • बाह्य त्वचा – जड़ का सबसे बाहरी एक खुली परत जिस पर बहुत सारे एक कोशिकीय रोम पाए जाते हैं
  •   कॉर्टेक्स – यह बहु स्तरीय मृदोतक कोशिकाओं की बनी होती है जिसके अंदर की कोशिकाओं में खाली स्थान वाली दूसरी स्तर पायी जाती है
  • इडोडर्मिस- यह कॉर्टेक्स की अंदरूनी जगह पर ढोलक जैसी कोशिकाओं की बनी होती है
  • पेरीसाइकिल- या एंडोडर्मिस की बाद की नीचे की एककोशिकीय सतह है जिसमें कुछ जगहों पर स्क्लेरेंकईमा के समूह पाए जाते हैं
  • संवहन पूल – एक्स एक्स चार्ज प्रकार की कोशिका है, इनके फ्लोएम में चालनी नलिका पाई जाती हैं लेकिन इनमें फ्लोएम पैरेंनकाइमा अनुपस्थित होती हैं
  • संयोजी उत्तक- जाइलम तथा फ्लोएम के बीच संयोजी उत्तक पाई जाती है जो मृदुतक प्रकार का होता है 

” एक बीज पत्री जड़ की संरचना ” के बारे आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में जरूर क्वेश्चन पूछे हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा, आप हमारे वेबसाइट vigyantk.com पर यू ही आते रहे जहाँ पर हम विज्ञान , प्रोद्योगिकी, पर्यावरण औऱ कंप्यूटर जैसे विषयो पर जानकारी साझा करते है

अन्य भी पढ़े

Share this

Leave a Comment