सूक्ष्मदर्शी क्या है |  सूक्ष्मदर्शी कैसे काम करता है |  Microscope In hindi

सूक्ष्मदर्शी ( microscope in hindi )

दोस्तों आप सभी ने अपने स्कूल के वक्त में सूक्ष्मदर्शी का उपयोग किया होगा प्रैक्टिकल के दौरान आज हम उसी सुच्मदर्शी के बारे में बताएंगे की सूक्ष्मदर्शी क्या है और सूक्ष्मदर्शी कैसे काम करता है और सुच्मदर्शी के कौन-कौन से प्रकार होते हैं

सूक्ष्मदर्शी की खोज किसने किया

सर्वप्रथम सूक्ष्मदर्शी की खोज एंटोनी वॉन ल्यूवेनहुक ने की थी 

सूक्ष्मदर्शी क्या है

जिस यंत्र द्वारा किसी ऐसे छोटे से छोटे कण को देखना संभव हो जाता है जिसे सामान्य आंखों से देखना संभव ना हो ऐसी यंत्र को सूक्ष्मदर्शी कहा जाता है

सूक्ष्मदर्शी की परिभाषा

में एके अधिक लेंस द्वारा निर्मित उपकरण जो नेत्र के कॉर्निया पर किसी वस्तु का दर्शन कोण का मान बढ़ा देते हैं जिससे वस्तु का स्पष्ट बड़ा प्रतिबिंब रेटिना पर बनता है सूक्ष्मदर्शी कहलाता है

दर्शन कोण क्या है

Visual angle किसी वस्तु द्वारा रेटिना पर बने कोण को दर्शन कोड कहते हैं किसी वस्तु को स्पष्ट देखने के लिए दर्शन कोण का बड़ा होना बहुत जरूरी है 10 अंकों का छोटा होने से वस्तु छोटा दिखता है सुच्मदर्शी दर्शन कोण का मान बहा देता है जिससे वस्तु बड़ी दिखती है आइए सूक्ष्मदर्शी के प्रकार के बारे में जानते हैं

प्रकाश सूक्ष्मदर्शी क्या है

प्रकाशीय सूक्ष्मदर्शी (optical microscope) एक प्रकार की microscope है जिसके द्वारा VISIBAL लाइट और लेंसों का उपयोग कर किसी OBJECT को बहुत बड़े रूप में देखा जा सकता है

वर्तमान समय में उपयोग किये जाने वाले संयुक्त सूक्ष्मदर्शी (कम्पाउण्ड माइक्रोस्कोप) का आविष्कार सत्रहवीं शताब्दी में हुआ था।

सरल सूक्ष्मदर्शी

यह सुषमा दर्शी का सामान्य रूप है जिससे वस्तु को बड़े रूप में देखा जा सकता है इसे आवर्धक लेंस भी कहा जाता है इसमें कम खूब कस्तूरी का उत्तल लेंस लगा होता है

जब कोई वस्तु उत्तल लेंस के सामने उस की फोकस दूरी से कम दूरी पर रखी जाती है तब उसका बड़ा आभासी व सीधा प्रतिबिंब बनता है

संयुक्त सूक्ष्मदर्शी

इस प्रकार के सुदर्शन दो प्रकार के लेंस पाए जाते हैं जिसमें एक छोटा लेंटस वस्तु के सामने तथा एक बड़ा लेंस नेत्रिका कहलाता है

 जो आंख के सामने होता है इसमें पहले वाले लेंस वस्तु का बड़ा प्रतिबिंब बनता है उसके बाद वही बड़ा प्रतिबिंब दूसरे वाले लेंस के लिए ऑब्जेक्ट का काम करता है नेत्रिका वाला लेंस उस ऑब्जेक्ट का बड़ा प्रतिबिंब रेटिना पर बनाता है

इस प्रकार के सूछ्म दरसी का उपयोग बहुत ही छोटे वस्तुओ को देखने के लिए किया जाता है 

जैसे किसी जीव की कोशिका को बहुत बड़े रूप में देखने के लिए इसका उपयोग किया जाता है

सूक्ष्मदर्शी के प्रकार

Digital microscope

डिजिटल MICROSCOPE सूक्ष्मदर्शी का ही एक प्रकार है जिसमे डिजिटल कैमेरा का उपयोग किया जाता है किसी ऑब्जेक्ट के हाई रेजुलेशन के फोटो खींचने और देखने में इसमें खुद के कृतरम लाइट का उपयोग कर ओब्जेक्ट की अच्छी और हाई क्वालिटी का फोटो खींचा जाता है

Electron microscope

इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी क्या है -ELECTRON MICROSCOPE में लाइट के रूप में ELECTRON का उपयोग किया जाता है ,एक इलेक्ट्रॉन की तरंग दैर्ध्य VISIBASL LIGHT की फोटॉन की तुलना में 100,000 गुना कम होती है, जिससे इसके द्वारा किसी अत्यंत छोटी वस्तु को अत्यंत बड़ा कर देखा जाता है

इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी का उपयोग- सूक्ष्मजीवों, कोशिकाओं, धातुओं और क्रिस्टल के अलावा जैविक और अकार्बनिक नमूनों की जांच के लिए किया जाता है।

और भी पढ़े >

FAQ – सूक्ष्मदर्शी क्या है

Q -संयुक्त सूक्ष्मदर्शी क्या है

A – इस प्रकार के सूक्ष्मदर्शी में दो लेंस का उपयोग किया जाता है जिससे object को बहुत बड़े रूप में देखा जा सकता है

Q -सूक्ष्मदर्शी के प्रकार / माइक्रोस्कोप कितने प्रकार के होते हैं

A -Digital microscope & Electron microscope

Q -सर्वप्रथम सूक्ष्मदर्शी की खोज किसने किया

A -सूक्ष्मदर्शी की खोज एंटोनी वॉन ल्यूवेनहुक ने की थी 



Share this

2 thoughts on “सूक्ष्मदर्शी क्या है |  सूक्ष्मदर्शी कैसे काम करता है |  Microscope In hindi”

Leave a Comment

Don`t copy text!