लेजर क्या है | लेजर का फुल फॉर्म | लेजर का आविष्कार किसने किया

लेजर क्या है ( LASER KYA HAI )

 प्रकाश तरंगों पर आधारित लेजर एक ऐसी युक्ति है है जिसके द्वारा विकिरण के प्रेरित उत्सर्जन और एक वर्णि प्रकाश प्राप्त किया जाता है

लेजर का फुल फॉर्म

लाइट एमप्लीफिकेशन बाई स्टीमुलेटेड अमिशन ऑफ रेडिएशन का शॉर्ट फॉर्म ही लेजर कहलाता है

लेजर की खोज किसके द्वारा किया गया

लेजर की लेजर की जो मूलभूत सिद्धांत थी जिसके द्वारा लेजर उत्पन्न किया जाता था का सिद्धांत आइंस्टीन द्वारा सर्वप्रथम 1917 में दिया गया

लेकिन वास्तव में पूरी तरह से विकसित लेजर का आविष्कार 1960 में थियोडोर मैमेन द्वारा अमेरिका के हेजाज अनुसंधान संस्थान में किया गया

लेजर कैसे काम करती है

प्रत्येक पदार्थ के परमाणु में  ऊर्जा विकिरण डिस्क्रीट एनर्जी लेवल में रह सकते हैं,ऊर्जा अवशोषण के द्वारा परमाणु को उत्तेजित किया जा सकता है

जिसके कारण परमाणु उत्तेजित अवस्था में हाई से लो की ओर गिरते जाते हैं किंतु हाई लेवल से लो लेवल की ओर जाने पर परमाणु ऊर्जा अधिक होती है

किंतु लेजर सिद्धांत में बाहरी उर्जा का अवशोषण कर संख्या के मान को पलट देना ही लेजर उत्पन्न करने की तकनीक है

यदि उत्तेजित अवस्था में परमाणु पर किसी फोटान द्वारा टकराया जाता है

 इस अवस्था में फोटान की उतनी ही उर्जा होनी चाहिए जितने की परमाणु द्वारा बिखरने से उत्पन्न उर्जा मे हो तब प्रेरक फोटान के बराबर ऊर्जा वाले फोटान उत्सर्जित करने के लिए उत्तेजित परमाणु को प्रेरित किया जाता है

प्रेरित फोटान की ऊर्जा प्रेरक फोटान के उर्जा में अपना योगदान देता है जिसके कारण परमाणु निचले तल से हो होकर ऊपरी तल में आ जाता है

ऊर्जा शोषण द्वारा परमाणु को उर्जा दशा में उठाना पंपिंग कहलाता है

प्रेरक फोटान और प्रेरित फोटान को आगे पीछे कई बार माध्यम को तय करना पड़ता है ताकि रास्ते में पड़ने वाले हैं उत्तेजित परमाणु भी प्रेरित हो सकें

इस प्रकार एक श्रृंखला प्रक्रिया पैदा होती है जिससे माध्यम में ऊर्जा घनत्व लगातार बढ़ता जाता है

निरंतर परिवर्तन पैदा करने के लिए माध्यम की विपरीत फलक पर चांदी का आवरण लेप के माध्यम से लगाया जाता है

जब ऊर्जा घनत्व का परिमाण विशाल हो जाता है तब वह माध्यम से अल्प अवधि के लार्ज पल्स के रूप में बाहर निकलता है

इस प्रकार बाहर निकलने वाली ऊर्जा से बड़ी हो जाती है और इस प्रेरित उत्सर्जन के द्वारा प्रकाश का बड़ा रूप प्राप्त होता ह

लेजर के लिए कौन से पदार्थ का उपयोग किया जाता है

लेजर में पहले रूबी क्रिस्टल का उपयोग किया जाता था लेकिन आज के वक्त में इसमें धातु पदार्थ से निर्मित क्रिस्टल उपयोग में लाए जाते हैं इसमें मुख्यतः चार प्रकार के लेकर उपयोग में लाए जाते हैं जो प्रेरित उत्सर्जन के सिद्धांत पर काम करते हैं

1. ठोस लेसर, जैसे- रूबी लेसर

2. द्रव लेसर, जैसे- यूरोपीय लेसर

3. गैस लेसर, जैसे- हीलियम-नियान लेसर

4. अर्धचालक लेसर

लेजर के भौतिक गुण

 लेजर उपस्थित सभी तरंगे एक 1 की होती है जिसे मोनोक्रोमेटिक कहा जाता है लेजर विकिरण को बहुत दूर से किसी एक पॉइंट पर फोकस किया जा सकता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले विकिरण फैलते नहीं है इसका कारण लेजर विकिरण की प्रति का क्षेत्रफल बहुत अधिक होती है जब हम लेजर को अधिक फोकस के साथ उत्पन्न करते हैं तब लेजर की तीव्रता भी अधिक होती है जिससे इसे बहुत दूरी तक भेजा जा सकता है

लेजर का उपयोग

संचार क्षेत्र में लेजर का उपयोग ऑप्टिकल फाइबर में इंटरनेट सेवा को बहुत तीव्र गति से पहुंचाने नहीं किया जा सकता है ऑप्टिकल फाइबर द्वारा पूर्ण आंतरिक परावर्तन के द्वारा बहुत अधिक क्षमता युक्त इंटरनेट का फायदा लिया जाता है लेकिन जब इसमें लेजर का उपयोग किया जाएगा तब इसकी क्षमता और ज्यादा बढ़ जाती है

स्टोरेज टेक्नोलॉजी आजकल कई प्रकार के सीडी डिस्क आने लगे हैं जो डीवीडी ब्लू रे या HDVD हो सकते हैं इसमें डाटा के रीड ओर राइट करने के लिए लेजर तकनीक का उपयोग किया जाता है जिससे तीव्र गति से डाटा का ट्रांसपोर्ट होता है

दूरी और समय मापने में laser का उपयोग होता है,मान कर चलो आप किसी ऑब्जेक्ट को मापना चाहते हैं कि वह हमारे से कितनी दूरी पर है तब laser का उपयोग किया जाता है

 जिसके द्वारा पता चलता है कि कितना दूर है और जाने में कितना वक्त लगेगा, लेजर टेक्नोलॉजी में हमें पता होता है कि कितना foton कितने समय में जनरेट हो पा रहा है इसी का गणना कर दूरी की माप निकाला जाता है

आकाश और अंतरिक्ष में हवाई जहाज और राकेट के लिए उनके कक्षा का और रास्ते का निर्धारण लेजर द्वारा किया जाता है

होलोग्राफी में लेजर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है जिससे थ्री डायमेंशन इमेज बनाया जाता है किसी ऑब्जेक्ट का

मैन्युफैक्चरिंग उद्योग में बहुत सारे काम लेजर से किया जाते हैं जैसे कि किसी कपड़े को काटना बर्फ को काटना या किसी धातु को काटना 

बारकोड– रीड करने में सुपर मार्केट और सामान्य दुकानों में उपयोग किया जाता है जिससे कि वस्तुओं का सेलिंग फास्ट हो सके

डिफेंस टेक्नोलॉजी में लेजर का उपयोग दुश्मन का कोई वेपंस डिटेक्ट करने में या उन्हें डिस्ट्रॉय करने में उपयोग किया जाता है

नाभिकीय ऊर्जा में लेजर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है क्योंकि लेजर टेक्नोलॉजी द्वारा अत्यधिक मात्रा में तापमान उत्पन्न किया जा सकता है इसी तापमान को उपयोग कर नाभिकीय संलयन की प्रक्रिया प्रारंभ की जाती है

मेडिकल साइंस में आजकल कई प्रकार के भयानक रोग आ गए हैं जिन्हें ठीक करने के लिए लेजर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है जिसके द्वारा कैंसर टयूमर जैसे सेल्स को ठीक किया जाता है

FAQ लेजर क्या है

Q-लेजर का आविष्कार किसने किया

A- लेजर का अविष्कार अमेरिका के थिओडोर मैमेन द्वारा 1960 में की गई थी!  किन्तु इनसे पहले इसके  सिद्धांत के बारे में वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन ने 1917 में दिया था

Q- लेजर का फुल फॉर्म क्या होता है

A- लेजर का फुल फॉर्म Light amplification by stimulated emission of radiationहोता है

और भी पढ़े >

लेजर क्या है

 हमने आज इसके बारे में बात की जिसके बारे में हमने जाना है कि लेजर क्या है और  लेजर कैसा काम करता है और इसको बनाने के लिए कौन-कौन से तत्व प्रयोग  किया जाता है इसके अलावा हमने इसके कुछ भौतिक गुण के बारे में जाना जिसके साथ ही हमने जाना कि लेजर को प्रयोग कहां कहां किया जाता है उम्मीद है यह जानकारी आपको पसंद आई होगी इसी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट से जुड़े रहे और इस से रिलेटेड और भी क्वेश्चन आप पूछ सकते हैं


Share this

Leave a Comment

Don`t copy text!