गतिज ऊर्जा क्या है | kinetic urja kya hai

गतिज ऊर्जा क्या है

किसी वस्तु में अगर गति हो रही हो तब इस गति द्वारा प्राप्त ऊर्जा को गतिज ऊर्जा कहा जाता है

गतिज ऊर्जा का सूत्र

KE = 1/2 mv²   =p²  /2m

इस फार्मूला में v वस्तु का वेग को प्रदर्शित करता है एवं m द्वारा किसी वस्तु का द्रव्यमान तथा p रेखीय संवेग को प्रदर्शित करता है इसके आधार पर किसी वस्तु की गतिज ऊर्जा बढ़ाने पर उस वस्तु का विवेक भी बढ़ जाता है

गतिज ऊर्जा के उदाहरण

  • तेज हवा चलने पर पवन चक्की का पंखा घूमना गतिज ऊर्जा का उदाहरण है
  • लोहे की कील को हथौड़ी द्वारा ठोकने पर लोहे की कील दीवार पर घुस जाती है जोकि हथौड़ी की गतिज ऊर्जा के कारण संभव हो पाता है
  • क्रिकेट की बाल जब विकेट से टकराती है तब बाल की गतिज ऊर्जा के कारण विकेट दूर गिर जाती है

गतिज ऊर्जा के कारण कुछ महत्वपूर्ण परिणाम प्राप्त होते हैं जो निम्न हैं

  • इसके आधार पर यदि किसी वस्तु का द्रव्यमान दोगुना कर दिया जाए तब उसका गतिज ऊर्जा भी दोगुना हो जाता है
  • वस्तु का द्रव्यमान आधा कर देने पर उसका गतिज ऊर्जा भी आधा हो जाता है
  • यदि किसी वस्तु का वेग को दोगुना कर दिया जाए तो उस वस्तु का गतिज ऊर्जा 4 गुना हो जाता है
  • यदि किसी वस्तु की वेग को आधा कर दिया जाए तब उस वस्तु की गतिज ऊर्जा एक चौथाई हो जाती है
  • इस नियम के अनुसार किसी भारी द्रव्यमान और वजन वाले वस्तु को गति प्रदान करने के लिए अधिक गतिज ऊर्जा की जरूरत पड़ती है
  • जबकि कम द्रव्यमान और हल्की वजन वाले वस्तु को गति प्रदान करने के लिए कम गतिज ऊर्जा की आवश्यकता होती है

और भी पढ़े >

गतिज ऊर्जा क्या है

 गतिज ऊर्जा को kinetic  ऊर्जा कहा जाता है इसके अनुसार से किसी वस्तु में गति के कारण उत्पन्न ऊर्जा गतिज ऊर्जा कहलाती है यह गतिज ऊर्जा कई कारणों पर निर्भर करती है जिसमें वस्तु का द्रव्यमान वजन और रास्ते की उतारा और चढ़ाव जैसे मुख्य कारक हैं

Share this

Leave a Comment

Don`t copy text!