जीवाश्म ईंधन क्या है | फॉसिल फ्यूल | जीवाश्म ईंधन की हानि

 

जीवाश्म ईंधन क्या है ( फॉसिल फ्यूल )

जीवाश्म ईंधन अनवीनीकरण इंधन के अंतर्गत आने वाला इंधन है जब कई प्रकार के जीव जंतु और पेड़ पौधों के biomass  से लाखो सालो बाद बनने वाला इंधन जीवाश्म ईंधन कहलाता है

जीवाश्म ईंधन कैसे बनता है

जीवाश्म ईंधन कई प्रकार के पेड़ पौधों और जीवों की लाखो सालो तक मिट्टी में दबे होने की वजह से उसमें अत्यधिक उस्मा और दबाव उत्पन्न होता है जिसकी वजह से उसमें उपस्थित कार्बन का रूपांतरण जीवाश्म ईंधन के रूप में होता है

जीवाश्म ईंधन की प्रकार

इस पृथ्वी पर जो भी ऐसे इंधन जो जमीन के अंदर से निकाला जाता है वह जीवाश्म ईंधन है सिर्फ परमाणु इंधन को छोड़कर

इस प्रकार देखा जाए तो पेट्रोल, डीजल,मिट्टी तेल,गैस  और कोयला यह सभी जीवाश्म ईंधन के प्रकार हैं

जितने भी प्रकार के  लिक्विड क्यूल है वे सभी क्रूड आयल (कच्चा तेल )के अंतर्गत आते हैं इस क्रूड आयल को जब फिल्टर किया जाता है तब इसमें से पेट्रोल-डीजल मिट्टी तेल निकलते हैं

आइए जीवाश्म ईंधन को एक-एक करे जानते हैं

कोयला

 जब कई प्रकार के  वनस्पति पृथ्वी के नीचे या पृथ्वी में मिट्टी के नीचे  कई लाखों वर्ष तक दबे रहते हैं तब अत्यधिक दबाव और उसमें के कारण उसमें उपस्थित कार्बन कोयला में बदल जाता है

Q कोयले के कितने प्रकार हैं

कुल मिला के तीन प्रकार है जिसमें पहला लिग्नाइट दूसरा bituminous और तीसरा enthrecyte है

Q भारत में कोयला कहां कहां मिलता है

भारत में कोयला छत्तीसगढ़ झारखंड जैसे राज्यों में अधिक मात्रा में पाया जाता है

खनिज तेल

खनिज तेल ऐसी वनस्पतियों से बने होते हैं जोकि कभी समुद्र में पाए जाते थे लाखों वर्षो तक कीचड़ और मिट्टी में दबे होने के बाद उन पर अत्यधिक दबाव और ताप से प्राकृतिक रूप से बायोमास खनिज तेल के रूप में बदल गया

खनिज तेल टेक्टोनिक प्लेट के आसपास अधिक मात्रा में पाया जाता है यहां पर इनका विशाल जमाव होता है

खनिज तेल गहरे काले रंग का द्रव पदार्थ होता है जिसका परिसंसकरण कर कई प्रकार के लिक्विड ईंधन उससे प्राप्त किए जाते हैं जैसे कि पेट्रोल डीजल मिट्टी तेल इत्यादि

भारत में कच्चा तेल कहां निकाला जाता है

भारत में कच्चा तेल महाराष्ट्र से लगे इलाका से निकाला जाता है यहां पर समुद्र से सागर सम्राट नामक संयंत्र से कच्चा तेल निकाला जाता है इसके अलावा खंभात की खाड़ी असम की डिबगोई से कच्चा तेल निकाला जाता है

प्राकृतिक गैस

प्राकृतिक गैस कार्बन से बनने वाली गैस जिस में मुख्यतः मीथेन गैस होता है प्राकृतिक गैस हाइड्रोकार्बन समूह के गैस होते हैं जिसमें एथेन प्रोपेन ब्यूटेन और और हल्का सा सल्फाइड गैस की  मात्रा भी   पाई जाती है

प्राकृतिक गैस कभी-कभी कच्चा तेल के स्रोत वाले स्थान पर कच्चा तेल के साथ मिल जाता है या फिर कभी कभी यह पूरी तरह से अलग स्थान पर भी पाए जाते हैं जहां पर सिर्फ गैस प्राप्त होता है

 गैर पारंपरिक प्राकृतिक गैस

जब कभी-कभी प्राकृतिक गैस को खोजा जाता है तब उस खनन क्षेत्र में प्रोपेन एवं ब्यूटेन गैस जो प्राकृतिक गैस होती हैं वह कभी-कभी तरल रूप में भी पाए जाते हैं इन्हें लिक्विड पेट्रोलियम गैस कहा जाता है इन गैसों को सिलेंडर पर डालकर रसोई की गैसों में उपयोग किया जाता है

Conclusion -जीवाश्म ईंधन क्या है

वर्तमान वक्त में हम अपने मोटर और गाड़ियों जो भी इंधन डालते हैं वे सभी जीवाश्म ईंधन है और जो मोटर गाड़ियां या बाइक सिर्फ  बैटरी से चलती हैं उन्हें इलेक्ट्रिकल व्हीकल कहा जाता है

जीवाश्म ईंधन इस पृथ्वी में उस वक्त बने हैं जब पृथ्वी में बहुत परिवर्तन आ रहा था इनको बनने के लिए लाखों करोड़ों वर्ष लगे  और यह पृथ्वी में सीमित मात्रा पर है

इसलिए हमें इनका उपयोग सोच समझ कर करना चाहिए इसके अतिरिक्त इनके उपयोग से पर्यावरण प्रदूषण पर होता है

इस पोस्ट पर हमने आपको बताने की कोशिश की है कि जीवाश्म ईंधन क्या है और जीवाश्म ईंधन कैसे बनती है जहां पर हमने इसके प्रकारों के बारे में भी बात की उम्मीद है आपको हमारी यह जानकारी पसंद आएगी


Q जीवाश्म ईंधन क्या है उदाहरण सहित समझाइए?

एनिमल और प्लांट्स के अवशेस से बनने वाले फ्यूल को जीवाश्म ईंधन कहा जाता है

Q जीवाश्म ईंधन के क्या लाभ हैं?

जीवाश्म ईंधन से हमे अपने उपयोग के लिए ईंधन मिलता है , जिससे हमारे वाहन चलते है

Q जीवाश्म ईंधन कितने प्रकार के होते हैं?

जीवाश्म ईंधन ठोस द्रव्य और गैस के रूप में मिलता है

Q जीवाश्म ईंधन कैसे बनता है?

लाखो वर्षो तक एनिमल और प्लांट्स के हिस्से समुद्री दलदल और मिटटी के निचे दबकर हाइड्रो कार्बन युक्त जीवाश्म ईंधन बनते है



Q जीवाश्म ईंधन कब तक चलेगा?

यह पृथ्वी में बहुत सिमित मात्रा में है जिसकी वजह से बहुत लम्बा वक्त तक जीवाश्म ईंधन नहीं चलेगा

Q जीवाश्म ईंधन की हानि क्या है

जीवाश्म ईंधन से पर्यावरण प्रदूषण बहुत ज्यादा होता है

Share this

Leave a Comment

Don`t copy text!