समस्‍थानिक क्‍या है | समस्‍थानिक की परिभाषा | समभारिक परिभाषा

समस्‍थानिक क्‍या है -समस्थानिक,समभारिक, सम न्यूट्रॉनिक,सम इलेक्ट्रॉनिक की परिभाषा

समस्थानिक क्या होता है

समस्थानिक को इंग्लिश में आइसोटेप्स कहा जाता है जिसके अनुसार है जब किसी तत्व कि परमाणु में प्रोटोनो की संख्या समान होती है किंतु न्यूट्रॉन की संख्या भिन्न-भिन्न होती है तब ऐसी तत्वों को समस्थानिक कहा जाता है

इसका उदाहरण है हाइड्रोजन के समस्थानिक जो

प्रोटियम ,ड्यूटीरियम और ट्राईटीरियम है

इन तीनों में प्रोटोन की संख्या समान होती है मतलब कहा जा सकता है कि इनके परमाणु क्रमांक हमेशा समान होंगे किन्तु परमाणु द्रव्यमान अलग अलग होंगे

इसके अलावा इन्हे भी जानना आवश्यक है

  • समभारिक
  • सम न्यूट्रॉनिक
  • सम इलेक्ट्रॉनिक

इन सब के बारे में जाने से पहले आपको नाभिक में उपस्थित परमाणु क्रमांक और परमाणु द्रव्यमान के बारे में जानना होगा

  • किसी तत्व के नाभिक में प्रोटोन और न्यूट्रॉन होते हैं और इलेक्ट्रॉन नाभिक के बाहर कक्षाओं में चक्कर लगाता रहता है
  • प्रोटोन में पॉजिटिव चार्ज होता है इलेक्ट्रॉन में नेगेटिव चार्ज होता है और न्यूट्रॉन में कोई भी चार्ज नहीं होता है इस कारण यह न्यूट्रल होता है इसे हम उदासीन भी कह सकते हैं
  • परमाणु क्रमांक किसी तत्व उपस्थित  प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉन की संख्या समान होती है मतलब कहा जा सकता है कि जितना प्रोटॉन होगा उतना ही इलेक्ट्रॉन भी होगा इसे Z से प्रदर्शित करते हैं
  • परमाणु द्रव्यमान किसी तत्व के नाभिक में उपस्थित प्रोटॉन और न्यूट्रॉन की कुल संख्या को परमाणु द्रव्यमान कहा जाता है

चलिए समस्थानिक,समभारिक, सम न्यूट्रॉनिक,सम इलेक्ट्रॉनिक के बारे में अब एक एक कर विस्तार से जानते हैं

समभारिक क्या होता है

इसे इंग्लिश में आइसो बार कहा जाता है समभारिक हमेशा समस्थानिक की विपरीत होता है इसमें परमाणु द्रव्यमान तो समान होता है किंतु परमाणु क्रमांक हमेशा भिन्न-भिन्न होगा

परमाणु द्रव्यमान में हमेशा प्रोटोन और न्यूट्रॉन का कुल योग होता है अर्थात कहा जा सकता है कि किसी भी तरह की परमाणु द्रव्यमान अगर समान हो तब वे सभी समभारिक कहलाएंगे

जैसे इन तत्वों के परमाणु द्रव्यमान 40 है,भले ही इनमें  प्रोटॉन और न्यूट्रॉन की संख्या आसमान हो लेकिन इनको जोड़ने पर परमाणु द्रव्यमान हमेशा 40 आएगा

Ar, K, Ca

सम न्यूट्रॉनिक क्या होता है

जैसे कि आपको इसके नाम से पता चल रहा है कि इसमें न्यूट्रॉन की संख्या हमसे समान होगी ऐसे नाभिक वाले तत्वों को सम न्यूट्रॉनिक कहा जाता है

इन तत्वों में परमाणु क्रमांक और परमाणु द्रव्यमान अभी भिन्न भिन्न होते हैं

इसके उदाहरण है यह तत्व जिनके  नाभिक में न्यूट्रॉन 16 – 16 हैं

Si, P, S,

सम इलेक्ट्रॉनिक क्या होता है

जैसे कि इसमें भी आपको नाम से पता चल रहा है की इन तत्वों के परमाणु में इलेक्ट्रॉन की संख्या समान होगी ऐसे तत्वों को सम इलेक्ट्रॉनिक तत्व कहा जाता है

जैसे F, Na

Conclusion -समस्‍थानिक क्‍या है

दोस्तों हमने आज जाना की किसी तत्व में इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन और न्यूट्रॉन के आधार पर तत्वों को समस्थानिक,समभारिक, सम न्यूट्रॉनिक,सम इलेक्ट्रॉनिक में बांटा गया है जिसमें हमने आपको सभी के बारे में विस्तार से बताया

  • समस्थानिक में आपने जाना की इनमें परमाणु क्रमांक समान होते हैं,वही समभारिक में आपने जाना की इसमें परमाणु द्रव्यमान समान होते हैं
  • सम न्यूट्रॉनिक में अपने जाना की इस में न्यूट्रॉन की संख्या समान होती है और अंत में सम इलेक्ट्रॉनिक के बारे में हमने आपको बताया कि इसमें इलेक्ट्रॉन की संख्या सभी तत्वों में समान होती है

तो दोस्तों हमारा यह प्रयास था कि हम इस टॉपिक पर आपको विस्तृत जानकारी दें आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा प्लीज कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताये और भी किसी प्रकार की जानकारी चाहिए हो तो हमें बताएं

आप इसी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट पर आते रहें ,हमारे वेबसाइट का नाम vigyantk.com है

और भी पढ़े >

Share this

Leave a Comment