हाइड्रोजन बंध क्या हैं | HYDROGEN BOND

हाइड्रोजन बंध क्या हैं

हाइड्रोजन बंध ( HYDROGEN BOND ) एक दुर्बल रासायनिक बंध है जो हाइड्रोजन परमाणु के साझा इलेक्ट्रॉन और एक विद्युत ऋणात्मक परमाणु के बीच बनता है. हाइड्रोजन परमाणु में एक सिंगल  इलेक्ट्रॉन होता है जो एक अत्यधिक विद्युत धनात्मक परमाणु के साथ शेयर होता है.

विद्युत ऋणात्मक परमाणु में एक इलेक्ट्रॉन जोड़ी  होता है जो हाइड्रोजन परमाणु के इलेक्ट्रॉन को आकर्षित करता है. इस आकर्षण बल को हाइड्रोजन बंध कहा जाता है.

हाइड्रोजन बंध एक दुर्बल बंध है, लेकिन यह कई पदार्थों के गुणों को प्रभावित करता है. उदाहरण के लिए, हाइड्रोजन बंध पानी के अणुओं को एक साथ रखता है, और यह पानी के उच्च क्वथनांक और गलनांक का कारण बनता है. हाइड्रोजन बंध प्रोटीन और डीएनए जैसे जैव अणुओं के संरचना और कार्य को भी प्रभावित करता है.

हाइड्रोजन बंध के सिद्धांत

हाइड्रोजन बंध के तीन मुख्य सिद्धांत हैं:

  • ध्रुवीयता सिद्धांत: हाइड्रोजन बंध एक ध्रुवीय बंध है, जिसका अर्थ है कि इलेक्ट्रॉन असमान रूप से वितरित होते हैं. हाइड्रोजन परमाणु में एक थोड़ा सा धनात्मक आवेश होता है, जबकि अधिक विद्युत ऋणात्मक परमाणु में थोड़ा सा ऋणात्मक आवेश होता है. यह धनात्मक और ऋणात्मक आवेशों के बीच आकर्षण बल है जो हाइड्रोजन बंध को बनाता है.
  • संकरण सिद्धांत: हाइड्रोजन बंध में शामिल परमाणुओं के कक्षकों का संकरण भी हाइड्रोजन बंध के गठन में एक भूमिका निभाता है. उदाहरण के लिए, पानी के अणु में ऑक्सीजन परमाणु sp3 संकरणित होता है. इसका मतलब है कि ऑक्सीजन परमाणु में चार समान कक्षक होते हैं, जो 109.5 डिग्री के कोण पर उन्मुख होते हैं. इन कक्षकों में से दो कक्षक इलेक्ट्रॉनों को रखने के लिए उपयोग किए जाते हैं, जबकि दो कक्षक हाइड्रोजन परमाणुओं के साथ हाइड्रोजन बंध बनाने के लिए उपयोग किए जाते हैं.
  • संरचना सिद्धांत: हाइड्रोजन बंध के गठन में अणुओं की संरचना भी एक भूमिका निभाती है. उदाहरण के लिए, पानी के अणुओं में एक दूसरे के साथ एक निश्चित कोण होता है. यह कोण हाइड्रोजन बंध के गठन के लिए सबसे अनुकूल होता है. यदि पानी के अणुओं का कोण अलग होता, तो हाइड्रोजन बंध उतने मजबूत नहीं होते.

हाइड्रोजन बंध कई भौतिक और रासायनिक गुणों को प्रभावित करते हैं. उदाहरण के लिए, हाइड्रोजन बंध पानी के उच्च क्वथनांक और गलनांक के लिए जिम्मेदार हैं. हाइड्रोजन बंध प्रोटीन और न्यूक्लिक एसिड की संरचना और कार्य को भी प्रभावित करते हैं.

हाइड्रोजन बंधों के कुछ महत्वपूर्ण गुण इस प्रकार हैं:

  • हाइड्रोजन बंध एक दुर्बल बंध है, लेकिन यह कई पदार्थों के गुणों को प्रभावित करता है.
  • हाइड्रोजन बंध केवल कुछ प्रकार के अणुओं के बीच बनते हैं, जिसमें एक हाइड्रोजन परमाणु होता है जो एक अत्यधिक विद्युत ऋणात्मक परमाणु के साथ साझा होता है.
  • हाइड्रोजन बंध अणुओं को एक साथ रख सकते हैं, और वे अणुओं के आकार और आकार को भी प्रभावित कर सकते हैं.
  • हाइड्रोजन बंध अणुओं के बीच रासायनिक प्रतिक्रियाओं को प्रभावित कर सकते हैं.

हाइड्रोजन बंध के प्रकार

हाइड्रोजन बंध के तीन मुख्य प्रकार हैं:

  • अंतर-आणविक हाइड्रोजन बंध दो अलग-अलग अणुओं के बीच होते हैं. उदाहरण के लिए, पानी के अणुओं में अंतर-आणविक हाइड्रोजन बंध होते हैं.
  • अंतः-आणविक हाइड्रोजन बंध एक ही अणु के भीतर होते हैं. उदाहरण के लिए, अमोनिया के अणु में अंतः-आणविक हाइड्रोजन बंध होते हैं.
  • सेतु हाइड्रोजन बंध तीन अणुओं के बीच होते हैं. उदाहरण के लिए, ग्लूकोज के अणु में सेतु हाइड्रोजन बंध होते हैं.

FAQ -हाइड्रोजन बंध क्या हैं

हाइड्रोजन बंध क्या है?

हाइड्रोजन बंध एक प्रकार का रासायनिक बंध है जो हाइड्रोजन परमाणु और एक अधिक विद्युतीय ऋणात्मक परमाणु (जैसे ऑक्सीजन, नाइट्रोजन या फ्लोरीन) के बीच होता है. हाइड्रोजन बंध एक आकर्षक बल है जो दो अणुओं को एक साथ रखता है.

हाइड्रोजन बंध के प्रकार

अंतर-आणविक हाइड्रोजन बंध , अंतः-आणविक हाइड्रोजन बंध , सेतु हाइड्रोजन बंध

हाइड्रोजन बंध के गुण

वे अणुओं को एक साथ रखते हैं और उनके गुणों को प्रभावित करते हैं,क्वथनांक और गलनांक को बढ़ाते हैं.घनत्व को बढ़ाते हैं. द्विध्रुवीय क्षण को बढ़ाते हैं.

इंटरमॉलिक्युलर हाइड्रोजन बॉन्डिंग क्या है

इंटरमॉलिक्युलर हाइड्रोजन बंध दो अलग-अलग अणुओं के बीच होते हैं. वे अणुओं को एक साथ रखते हैं और उनके गुणों को प्रभावित करते हैं. उदाहरण के लिए, पानी में हाइड्रोजन बंध होते हैं. ये हाइड्रोजन बंध पानी के क्वथनांक और गलनांक को बढ़ाते हैं और पानी को एक तरल बनाते हैं

अल्कोहल में हाइड्रोजन बंध को समझाइए

अल्कोहल में भी हाइड्रोजन बंध होते हैं. ये हाइड्रोजन बंध अल्कोहल के क्वथनांक और गलनांक को बढ़ाते हैं और अल्कोहल को एक तरल बनाते हैं. अल्कोहल में हाइड्रोजन बंध अल्कोहल अणुओं के बीच ऑक्सीजन परमाणु और हाइड्रोजन परमाणु के बीच होते हैं.

अन्य भी पढ़े

Share this

Leave a Comment