Data Center क्या होता है |  What Is Data Center In Hindi

Data Center क्या होता है

डाटा सेंटर क्या है -जिस स्थान पर किसी संस्था या यूज़र का डाटा स्टोर किया जाए वह डाटा सेंटर कहलाता है डाटा में  टेक्स्ट ऑडियो वीडियो इमेज सॉफ्टवेयर कोड और भी बहुत सारी data store आदि शामिल हो सकता है

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप उम्मीद है अच्छी होंगे अब जब जब आज जब डाटा प्रोसेस करने की बात आती है तब निश्चित ही हमारे दिमाग में डाटा सेंटर के बारे में प्रश्न आता है कि डाटा सेंटर क्या है तब मैं आपको बता दूं डेटासेंटर्स वह जगह होते हैं जहां पर किसी संस्था या किसी यूज़र के सभी प्रकार के डाटा स्टोरेज होते हैं

डाटा सेंटर की परिभाषा

 ऐसी डिजिटल भंडारण युक्त स्थान जहां पर किसी संस्था या यूजर द्वारा उपयोग गए किए गए इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल आधार पर प्रोसीड किए गए डाटा का भंडारण होता है डाटा सेंटर्स कहलाता है

डाटा सेंटर्स कैसे काम करते हैं

आमतौर पर डाटा सेंटर स्टोरेज टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हैं किंतु इसमें आपको होस्टिंग जैसे  टेक्निक का आभास हो रहा होगा लेकिन वेब होस्टिंग और डाटा स्टोरेज में अंतर है

 जहां पर होस्टिंग द्वारा किसी वेबसाइट के डाटा को सेव किया जाता है और सरवर द्वारा उस डाटा को यूजर तक पहुंचाया जाता है वही डाटा सेंटर्स द्वारा वेबसाइट वीडियो शेयरिंग वेबसाइट, इमेज शेयरिंग वेबसाइट से प्राप्त कई प्रकार के डाटा ओं का स्टोरेज डाटा सेंटर में किया जाता है 

इसके लिए डाटा सेंटर ऐसे स्थानों में बनाया जाता है जो रिहायशी इलाका से दूर क्योंकि ऐसे स्थानों पर डाटा स्टोरेज के लिए बहुत ज्यादा स्टोरेज कैपेसिटी वाली भंडारन नियुक्तियों का उपयोग किया जाता है

 जिसके कारण ऐसे स्थानों पर 24 घंटे घंटे बिजली की जरूरत होती है और डाटा स्टोर करने के लिए 24 घंटे मशीनें चलती रहती है और यह आमतौर पर सभी स्टोरेज डिवाइस कंप्यूटर से कनेक्ट होते हैं इंटरनेट द्वारा 

इसके लिए ऐसा स्थान चुना जाता है जोकि ठंडे स्थानों पर हो या अगल-बगल पेड़ पौधे हो जिससे कि वहां का माहौल को ठंडा रखा जा सके,

 ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि मशीनें जब 24 घंटे चलती है तब उस एरिया का टेंपरेचर ऑटोमेटिक बढ़ जाता है जिसकी वजह से मशीनों की कार्य क्षमता में अंतर पड़ने लगती है

और डाटा बहुत स्लो गति से यूज़र तक पहुंच पाती है इसी कमी को दूर करने के लिए डाटा स्टोरेज को अधिक आजकल आजकल ऐसे स्थानों पर बनाया जाता है जो ठंडे हो मतलब जहां पर साल भर में कम से कम 6 महीना ठंडी लगे जिससे कि डाटा प्रोसीड करने और डाटा चालू करने के लिए अच्छी स्पीड प्राप्त की जा सके

 इसके अलावा इन मशीनों को ठंडा करने के लिए भी अधिक मात्रा में AIR CONDICENER की जरूरत पड़ती है, इन AIR CONDICENER को चलाने के लिए बहुत ज्यादा बिजली खपत होती है इसलिए ऐसा किया जाता है

.

डाटा सेंटर कहा बनाया जाता है

डाटा सेंटर को जब स्टेबल किया जाता है तो इन्हें बड़ी-बड़ी बिल्डिंगों के अंदर बनाया जाता है जहां पर बहुत सारे स्टोरेज डिवाइस जैसे एसएसडी का उपयोग किया जाता है इन को चलाने के लिए कई कंप्यूटर्स होते हैं जो इंटरनेट से जुड़े होते हैं

और इन स्टोरेज डिवाइस को मैनेज करने के लिए हाई कंप्यूटिंग क्षमता युक्त कंप्यूटर के उपयोग में लाए जाते हैं जिनकी वर्किंग और मैनेजमेंट क्षमता बहुत अधिक होती है इसके अलावा इसमें अनेक डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम का उपयोग किया जाता है

 मतलब डाटा सेंटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर  का कंबाइन रूप है डाटा सेंटर जहां पर दुनिया से प्राप्त डाटाओं का संग्रहण किया जाता है जब यूजर द्वारा किसी टाटा को प्राप्ति के लिए रिक्वेस्ट भेजा जाता है तो यही डाटा,इंटरनेट के द्वारा सर्वर के माध्यम से लोगों तक पहुंचा दिया जाता है

डेटासेंटर्स का उपयोग कौन करता है

डाटा सेंटर्स का उपयोग अधिकांश वे कंपनी करती है जो सर्च इंजन  लोगों को प्रोवाइड करवाती है आमतौर पर आप सभी इन कंपनियों को जानते होंगे जिनका उपयोग आप अपने ब्राउज़र में इनफार्मेशन खोजने के  उपयोग में करते हैं

 जैसे कि गूगल सर्च, याहू सर्च,माइक्रोसॉफ्ट बिंग इसके अलावा एप्पल का सफारी सर्च इंजन यह सभी कंपनियां दुनिया भर में स्थित सभी तरह की जानकारियां अपने पास रखती हैं जो पब्लिक मे उपलब्ध होता है

और इसी के आधार पर ही वह डाटा सर्च कर किसी यूजर को डाटा उपलब्ध करवाती है

CONCLUSION -डाटा सेंटर क्या है

आपका जो मन मे सवाल होता है की डाटा सेंटर क्या है के बारे मे हमने आपको समझाने की कोसिस की जिससे आपको जानकारी मिली की डाटा सेंटर कैसे काम करती है 

और भी पढ़े >

Share this

Leave a Comment

Don`t copy text!