सीपीयू क्या है | cpu ka full form क्या है 

सीपीयू क्या है

सीपीयू (cpu)कंप्यूटर में सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है जहां पर कंप्यूटर द्वारा सभी कार्यों को प्रबंधन नियंत्रण और इनपुट आउटपुट  डिवाइस को जोड़ने के लिए एक माध्यम प्रदान करता है

दोस्तों कंप्यूटर में मुख्य भाग सीपीयू होता है जिसमें कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट्स लगे होते हैं जो आपस में मिलकर ही एक कंप्यूटर का निर्माण करते हैं इस आधार पर देखा जाए तो सीपीयू की परिभाषा यह होगी

सीपीयू की परिभाषा क्या है

कंप्यूटर में मुख्य हिस्सा जहां पर कंप्यूटर से संबंधित सभी प्रकार के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का संसाधनों का प्रबंधन किया जाता है सीपीयू कहलाता है सीपीयू द्वारा ही इंफॉर्मेशन लिया जाता है और उस इंफॉर्मेशन का आउटपुट भी दिया जाता है

दोस्तों अब तो आप जान गए होंगे कि कंप्यूटर में सीपीयू क्या है

सीपीयू कैसे बनाया जाता है

सीपीयू मैं बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट मदर बोर्ड के द्वारा जुड़े होते हैं जिसके अंदर है हार्ड डिस्क माइक्रोप्रोसेसर ग्राफिक्स प्रोसेसर कार्ड साउंड कार्ड राम पेरीफेरल डिवाइस के लिए कनेक्टेड जंक्शन इत्यादि होते हैं चलिए इनके बारे में एक-एक कर जानते हैं

मदर बोर्ड क्या है

सीपीयू में मदरबोर्ड मुख्य भूमिका निभाता है इस मदर बोर्ड से ही कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जुड़े होते हैं जिनके द्वारा ही कंप्यूटर के सारे काम प्रबंधन और इंफॉर्मेशन इनपुट आउटपुट का काम किया जाता है

 मदर बोर्ड में माइक्रो प्रोसेसर  होता है उसके बाद ग्राफिक्स कार्ड है साउंड कार्ड और वायरलेस कनेक्शन के लिए socket लगा होता है,

 मदर बोर्ड का आकार वर्गाकार होता है जिसमें बहुत सारे डिवाइस को जोड़ने के लिए मदर बोर्ड पर ही इनपुट और आउटपुट डिवाइस  को जोड़ने के लिए सॉकेट बना होता है

 जिसके जरिए से कंप्यूटर के अन्य भाग जैसे कि मॉनिटर कीबोर्ड माउस प्रिंटर प्लॉटर इत्यादि कनेक्ट होते हैं मदरबोर्ड को उसके  उपयोग के आधार पर बड़ा या छोटा बनाया जाता है

SMPS क्या है 

इस का फुल फॉर्म स्विच मॉड पावर सप्लाई है इसका काम होता है कि सीपीयू में उपस्थित  सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस  के लिए उसके जरूरत के हिसाब से उन्हें इलेक्ट्रिक पावर प्रदान किया जाए

आमतौर पर एसएमपीएस द्वारा एसी करंट को कंप्यूटर का डिवाइस के लिए डीसी करंट में बदला जाता है क्योंकि कंप्यूटर के सभी components डीसी करंट पर काम करते हैं एसएमपीएस का आकार छोटा सा होता है

SMPS कहा पाया जाता है

 SMPS कंप्यूटर के अंदर एक कोने में फिट होता है आजकल कंप्यूटर के बाहर लगने वाले भी एसएमपीएस आने लगे हैं और लैपटॉप में तो एसएमपीएस बाहर ही लगे होते हैं जिसे हम adaptor कहते हैं

माइक्रोप्रोसेसर

यह भी सिलीकान चिप पर बनाया एक डिवाइस है,माइक्रो प्रोसेसर को सीपीयू का दिल कहा जा सकता है क्योंकि इसके द्वारा ही इंफॉर्मेशन को इनपुट लेकर आउटपुट दिया जाता है

 एक माइक्रोप्रोसेसर का आकर मुश्किल से एक इंच आकार का वर्गाकार संरचना में बना इंटीग्रेटेड चिप ( IC)होता है इसमें बहुत सारे कार्यों के लिए छोटे-छोटे ट्रांजिस्टर इंटीग्रेटेड होते हैं जो मिलकर एक माइक्रो प्रोसेसर बनाते हैं आमतौर पर आजकल मार्केट में इंटेल और एमडी का माइक्रोप्रोसेसर आता है

कूलिंग फैन

सीपीयू में उपयोगकर्ता के काम के हिसाब से 2-4 कूलिंग फैन लगा होता है जो सीपीयू को अंदर से ठंडा करता है जब हमारे द्वारा कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है तब मशीन चलने लगती है और जब मशीन चलने लगती है

तब मशीन गर्म हो जाती है मशीन के heat होने की कंडीशन में उसकी वर्किंग कैपेबिलिटी और स्पीड कम हो जाती है

इसलिए उसे ठंडा करना आवश्यक है, नहीं तो सीपीयू बहुत स्लो काम करेगा और आपका काम प्रभावित होगा

Ram क्या है

राम का फुल फॉर्म रेंडम एक्सेस मेमोरी है जब हमारे द्वारा कोई सॉफ्टवेयर या ऐप खोला जाता है तब वह मेन मेमोरी से निकलकर इसी रैम में आकर run करता है,किसी कंप्यूटर की राम जितनी ज्यादा अधिक होगी उतना ही बिना लटके  काम करेगा

राम एक अस्थाई प्रकार का मेमोरी है जोकि पावर सप्लाई होने तक चालू रहता है पावर सप्लाई बंद हो जाने पर उसमें स्टोर सॉफ्टवेयर का डाटा वापस मुख्य मेमोरी में चला जाता है

 आजकल मार्केट में मिनिमम 4GB राम से लेकर 32GB तक की राम का उपयोग किया जाता है जोकि उपयोगकर्ता के उपयोग के आधार पर राम का निर्धारण होता है

यदि कोई व्यक्ति 3D मॉडलिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग करता है तब उसके कंप्यूटर सिस्टम में 8GB से लेकर 32GB तक की राम उपयोग  में लाई जाएगी

हमने हमारा एक पोस्ट मैं रैम के बारे में बताया है की रैम क्या है और रैम कैसा काम करता है उस पोस्ट पर जाकर जरूर पढ़ें जिससे आपको राम के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी

हार्ड डिस्क ड्राइव

यह एक छोटे से बॉक्स के आकार का चपटा और आयताकार सरचना युक्त स्टोरेज डिवाइस हार्ड डिस्क का काम कंप्यूटर कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने का है हार्ड डिस्क में एलुमिनियम के बने हुए डिस्क पाए जाते हैं, जोकि तीन या चार लेयर मे होते है,

जो कि एक मूवेबल स्ट्रक्चर द्वारा जुड़े होते हैं और 2 हार्ड डिस्क के बीच में हेडर पाया जाता है जिसका काम होता है डाटा को रीड करना जब डिस्क बहुत तेजी से घूमता है तब हेडर द्वारा एलुमिनियम के डिस्क के नजदीक जाकर डाटा को read और write किया जाता है

हार्ड डिस्क को फॉर्मेट कर ए बी सी डी ड्राइव में पार्टीशन किया जाता है,आमतौर पर कंप्यूटर के सी ड्राइव में ही ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल किया जाता है और बाकी तीन ड्राइव में यूजर अपना डाटा स्टोर करता है

ग्राफिक्स कार्ड

gpu मदर बोर्ड में बने एक सांचे में इंटीग्रेटेड होता है जिसका काम होता है कंप्यूटर में वीडियो और ग्राफिक्स संबंधित फाइल को आसानी के साथ प्ले करना आमतौर पर आजकल बहुत सारे वीडियो और सॉफ्टवेयर ऐसे आने लगे हैं जो बहुत भारी भरकम होते हैं बिना ग्राफिक्स कार्ड के माइक्रोप्रोसेसर द्वारा उस वीडियो या सॉफ्टवेयर को चलाना मुश्किल होता है इसलिए ग्राफिक्स कार्ड को मदर बोर्ड में जोड़ा जाता है

साउंड कार्ड

साउंड कार्ड नॉर्मल ही हर कोई उपयोग नहीं करता लेकिन जो साउंड और ऑडियो एडिटिंग का काम करते हैं उनके कंप्यूटर में साउंड कार्ड लगा होता है जिससे कि उन्हें पता चल सके कि हम जो अपना ऑडियो वीडियो बना रहे हैं वह किस क्वालिटी का है

 इसके अलावा संगीत के प्रेमी लोग भी साउंड कार्ड फिट करवा कर अपने कंप्यूटर से बहुत अच्छी क्वालिटी का साउंड का मजा ले सकते हैं

वायरलेस कार्ड

वायरलेस में दो प्रकार के फंक्शन मौजूद होते हैं जिसमें एक है वाईफाई और दूसरा ब्लूटूथ अगर आपके कंप्यूटर को किसी डिवाइस द्वारा बिना किसी और के कनेक्टेड करना हो तब कंप्यूटर में वायरलेस कार्ड लगाना होता है इसके द्वारा ही आप अपने कंप्यूटर में वाईफाई और ब्लूटूथ जैसे फंक्शन का उपयोग कर पाएंगे दूसरी डिवाइस  से जुड़ने के लिए

पेरीफेरल पोर्ट

मदर बोर्ड में सीपीयू के अंदर उपस्थित सभी इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट सीधे मदर बोर्ड से जुड़े होते हैं किंतु बहुत सारे  ऐसे पार्ट्स होते हैं कंप्यूटर के जो सीपीयू के बाहर होते हैं उन्हें जोड़ने के लिए पेरीफेरल कोर्ट का उपयोग किया जाता है इनके द्वारा ही मॉनिटर कीबोर्ड माउस प्रिंटर प्लॉटर इत्यादि जोड़ते हैं इसके अलावा इंटरनेट से कनेक्टेड करने के लिए इथरनेट पोर्ट भी होता है

Cpu case

 Cpu मे उपस्थित सभी सामान cpu case के अंदर व्यवस्थित होता है एक तरह से इसे आप बाहरी आवरण भी कह सकते है

इसमें mother bord , ram, smps, micro processor, और सभी इलेक्ट्रिकल component लगे होते है और Cpu case का आकार उसमे लगे सभी प्रकार के

इलेक्ट्रिकल component पर निर्भर करता है 

आपने सीखा -सीपीयू क्या है और cpu ka full form क्या है 

दोस्तों कैसा लगा हमारे यह पोस्ट जिस पर हमने आपको बताने की कोशिश की थी कि CPU kya hai और cpu कैसा काम करता है

कंप्यूटर सिस्टम में cpu मुख्य भूमिका निभाता है जिसमें कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट होते हैं जो सभी आपस में मदर बोर्ड द्वारा जुड़े होते हैं मदरबोर्ड में उपस्थित कई प्रकार के port और slots द्वारा सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आपस में जुड़े होते हैं इसमें से कुछ नाम है जैसे माइक्रोप्रोसेसर ग्राफिक्स कार्ड राम हार्ड डिस्क एसएमपीएस इत्यादि

दोस्तों कैसा लगा हमारा यह पोस्ट की सीपीयू क्या है और फिर यह कैसा काम करता है सीपीयू से संबंधित किसी भी प्रकार की आपको कोई डाउट होगा तो आप बिना किसी समस्या के आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं और किसी अन्य प्रकार की क्वेश्चन  भी हो तो जरूर पूछें हम आपकी सवालों के जवाब देने की कोशिश जरूर करेंगे

हमारे वेबसाइट का नाम vigyantk.com है

और भी पढ़े >

Share this

2 thoughts on “सीपीयू क्या है | cpu ka full form क्या है ”

Leave a Comment

Don`t copy text!