ब्लॉकचेन  क्या है | ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी  कैसे काम करता है? | Blockchain Technology in Hindi

ब्लॉकचेन  क्या है ( Blockchain kya hai )

Blockchain Technology in Hindi -जब ब्लॉक को छोटे छोटे भागो मे तोड़कर उसके सभी भाग को अलग अलग server मे स्टोर करना जिससे की डाटा सेफ हो और उसका बिना किसी छेड छड़ का उपयोग संभव हो पाए

ब्लॉक चैन टेक्नोलॉजी क्या है 

ब्लॉकचैन एक डाटा storage टेक्नोलॉजी है 

दोस्तों दोस्तों बिटकॉइन तो आप सभी लोग जानते होंगे जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर बना है जब बात होती है बिटकॉइन के बारे में तब तब ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का भी बात होना लाजमी है

 खैर  हमने अपने एक पोस्ट मे bitquin कि पूरी जानकारी दी है इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी क्या है

ब्लॉकचेन क्या है

ऐसी टेक्नोलॉजी है जो इंटरनेट आधारित सेवा के द्वारा प्रोसेस को कंप्लीट किया जाता है इसमें कंप्यूटर के द्वारा  hardware और software   का उपयोग कर data को छोटे  छोटे block के रूप मे store किया जाता है हाई एंड कंप्यूटर सिस्टम द्वारा

इसे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी क्यों बोला जाता है

इसकी टेक्नोलॉजी के कारण ही है इसे ब्लॉकचेन कहा जाता है, इसमें छोटे छोटे-छोटे ब्लॉक के रुप में डाटा को डाटा को स्टोर किया जाता है और यह डाटा स्टोरेज करने की प्रक्रिया थोड़ी सी लंबी होती है 

इस कारण बाकी डाटा स्टोरेज टेक्नोलॉजी की तुलना में यह थोड़ा स्लो तो है किंतु सिक्योर है क्योंकि इसमें डाटा छोटे-छोटे ब्लॉक के रूप में आपस में इकट्ठा होकर एक अपने आप में  पुर्ण डिजिटल डाटा बनाते हैं और सभी डेटा एक जगह इक्कठा भी नही होते जिसके कारण इसे excess करने में वक्त लगता है 

 इसलिए इस प्रकार के ट्रांजैक्शन में डाटा को हैक करना बहुत ही मुश्किल काम होता है क्योंकि ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी में data छोटे-छोटे ब्लॉक आपस में मिलकर बड़े ब्लॉक बनाते हैं इसलिए अगर कोई हैकर कोई एक ब्लॉक को हैक कर ले तो उसके द्वारा पूरी डाटा को अपने फेवर में करने के लिए पूरे ब्लॉक को हैक करना होगा जो की संभव नही है

इसलिए यहां ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी सिक्योर है इसी कारण ही आजकल डाटा स्टोर करने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है इसके बजाय हम बाकी सिस्टम को अगर देखें जो डाटा स्टोर करते हैं उसमें अगर frunt की सिक्योरिटी सिस्टम को crack करके अगर डाटा तक पहुंचा जाता है तब हैकर द्वारा पूरे डेटा को अपने हिसाब से उपयोग करने की छूट मिल जाती है 

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी कहां उपयोग की जा सकती है

1 बैंक में

बैंकिंग क्षेत्र में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का उपयोग करना बहुत ही सुरक्षित हुआ है जिससे कि जालसाजी द्वारा पैसा का स्थानांतरण या ऑनलाइन चोरी पैसों की फ्रॉड इत्यादि को रोका जा सकता है इसके अलावा बैंकिंग को बहुत ही सिक्योर किया जा सकता है जिससे कि किसी व्यक्ति का पैसा सही जगह पर सेव रहे

2 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य- ब्लॉकचेन का प्रयोग कर   मरीजों के विवरण इत्यादि को संचित करने हेतु किया जाता रहा है। यह प्रौद्योगिकी यह सुनिश्चित करता है कि कोई भी व्यक्ति या संस्था इसके द्वारा मरीजों के बहुत जरुरी इनफार्मेशन को स्टोर कर मेडिकल फील्ड के सभी लोगो से डाटा शेयर किया जा सकता है | जिससे की मरीजों को फालतू का बहुत सारा डॉक्यूमेंट लेकर चलना न पड़े और एक ही जगह सभी जानकारी मिल जाये 

3 Security and डिफेन्स एजेंसियां भी ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का प्रयोग अपराधियों तथा उनके द्वारा अंजाम

अपराध तथा समस्त बायोमेट्रिक details के साथ एक  डाटाबेस को तैयार कर data store

 उद्देश्य से कर रही है। चूंकि यह अत्यधिक सुरक्षित प्रौद्योगिकी है। अतएव कोई भी व्यक्ति इसमें बिना पहुंच के बदलाव नहीं कर सकता है।

4. वोट

देने की प्रक्रिया में  ब्लॉकचैन technology उपयोग से वोटिंग मशीन हैकिंग की समस्या समाप्त किया जा सकता है

5. इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का

उपयोग आजकल Internet of Things (IOT) द्वारा किया जा रहा है। यह तकनीक सुनिश्चित करता है कि अलग अलग डिवाइस द्वार डाटा share को safe रखा जाता है creptography द्वारा

6. ऑनलाइन संगीत कंपनियां अपना संगीत को blockchain storage के जरिए से कॉपीराइट का पूर्णतः पालन करवा सकते हैं

7. Real Estate यह व्यवसाय भी ऐसा क्षेत्र है जो ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी से प्रभावित है तथा भविष्य में लोग अपनी संपत्ति का क्रय-विक्रय ब्लॉकचेन के माध्यम से करने जा रहे हैं।

8. नैतिक उपभोक्तावाद जब लोग वस्तुओं की खरीद-फरोख्त करने की सोचते हैं तो ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी वस्तुओं के उत्पादन स्रोत तक एक सूचना श्रृंखला के माध्यम से अपनी पहुंच कायम रख सकते हैं ताकि वस्तुओं की गुणवत्ता को सुनिश्चित किया जा सके।

9. ब्लॉकचेन क्राउड फंडिंग ब्लॉकचेन क्राउड फंडिंग में

नवीन तथा छोटे उद्यमी एक डिजिटल करेंसी (मुद्रा) का निर्माण करते हैं, जिसमे सभी अपना इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं

इसके जरिए से मार्केट में नए product लांच कर  नए वित्तीय सोर्स of income जुटाया जा सकता है

और भी पढ़े >

ब्लाकचैन क्या है

 तो दोस्तों  यह तो थी टेक्निकल भाषा में ब्लॉकचेन की परिभाषा इसको हमने आसान भाषा में आप को समझाया है 

 ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी data store करने  के भी  काम आते  है जिसमें डेटा छोटे-छोटे ब्लॉक के रूप में इंटरनेट के द्वारा ब्लॉकचेन server पर सेव हो जाते हैं 

ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी में बहुत सारे कंप्यूटर आपस में इंटरनेट द्वारा जोड़कर data ट्रांजैक्शन को प्रोसीड करते हैं मतलब की इसमें किसी एक कंप्यूटर का उपयोग नहीं होता इसमें बहुत सारे कंप्यूटर्स आपस में जुड़े होते हुए होते हैं 

 दूसरी बात ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी में काम सिर्फ एक ही कंप्यूटर पर नहीं होता हर एक कंप्यूटर के द्वारा प्रोसीजर कंप्लीट किया जाता है

 इससे होता यह है कि सभी कंप्यूटरों में डाटा एक ही साथdata बदल नहीं जाता है जबकि नॉर्मल स्टोरेज सिस्टम में अगर किसी एक कंप्यूटर या मोबाइल के द्वारा ट्रांजैक्शन करते हैं तब उसी मोबाइल या कंप्यूटर में अपडेट होने के बाद वह main server  में दिखाई देता है

लेकिन ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी में आपको अगर कोई डेटा बदलना है आपको सभी sarver मे जाकर एक एक कर data को बदलना होगा जिससे यह बहुत ज्यादा सिक्योर हो जाता है

Data स्टोरेज का कार्य इसमें डाटा पूर्ण रूप से सुरक्षित होता है और प्राइवेसी का ध्यान भी रखा जाता है इस कारण आजकल ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से निर्मित क्रिप्टोकरंसी जैसे बिटकॉइन एंथिरन डॉगी को इन जैसे क्रिप्टोकरंसी की बाढ़ सी आ गई है

Share this

2 thoughts on “ब्लॉकचेन  क्या है | ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी  कैसे काम करता है? | Blockchain Technology in Hindi”

  1. मैने आपका आर्टिकल पढ़ा और मुझे यह काफ़ी अच्छा लगा? आपने इस ऑर्टिकल में पूरी जानकारी दी हैं, जिसे पढ़कर मैंने भीं अपनी साइट पर एक ऑर्टिकल लिखा। क्या आप मेरा आर्टिकल को देख कर बता सकते हैं, की मैने ऑर्टिकल लिखने में क्या गलतियां की हैं। आप से निवेदन हैं, कृपया मेरे मदद करे।

    blockchain technology kya hai?

    Reply

Leave a Comment

Don`t copy text!