अंडाशय को अंतः स्त्रावी ग्रंथि क्यों कहा जाता है | अंडाशय से निकलने वाला हार्मोन

अंडाशय को अंतः स्त्रावी ग्रंथि क्यों कहा जाता है

जब अंडाशय बन जाता है तब वह अपने अंदर से हार्मोन का स्रावित करने लगता है, यह स्त्रावण अंडाशय में पाया जाने वाले कॉरपस लूटियस के कारण निषेचन के तुरंत बाद सक्रिय होकर स्त्रावण होने लगता है, इस कारण अंडाशय को अंतः स्त्रावी ग्रंथि कहा जाता है |

अंडाशय से निकलने वाला हार्मोन

अंडाशय से  प्रोजेस्टरॉन और रिलैक्सिंग हार्मोन का स्त्रवण होता है

प्रोजेस्टरॉन

  यह हार्मोन महिलाओं में गर्भधारण करने के लिए आवश्यक होता है इसलिए इसे गर्भावस्था हार्मोन कहा जाता है

 रिलैक्सिंग

जब प्रसव का वक्त आता है तब इसके द्वारा श्रोणि मेखला के प्यूबिक सिम्पफाइमिस को शिथिल कर दिया जाता है जिसकी वजह से योनि द्वार चौड़ा हो जाता है और शिशु आसानी से बाहर आता है

अन्य भी पढ़े

Share this

Leave a Comment