एलेलोपैथी क्या है | Allelopathy in hindi

admin

BLOG

एलेलोपैथी क्या है

जब किसी एक ही भूमि पर किसी फसल की खेती करने के बाद जब किसी दूसरी फसल की खेती की जाती है पहले फसल के द्वारा थोड़ी गए रासायनिक पदार्थ के द्वारा दूसरी फसल की वृद्धि और विकास को प्रभावित किया जाता है जिसकी वजह से उसकी उत्पादकता को प्रभावित करता है तब इस प्रकार का प्रभाव एलीलोपैथी ( Allelopathy ) कहलाता है

एलीलोपैथी के प्रभाव मे देखा गया है कि पहले फसल की जड़े द्वारा किसी विशेष प्रकार की रसायन उत्पन्न किया जाता है जो कि दूसरी फसल के लिए हानिकारक होती है इस अवस्था में पहले फसल की जड़ें सड़ने लगती है और जब दूसरी फसल को लगाया जाता है तब उससे निकलने वाले रासायनिक पदार्थ दूसरी फसल की जड़ द्वारा अवशोषित की जाती है और पौधों के अंदर प्रवेश कर उसकी वृद्धि और विकास को प्रभावित करती है जिसके कारण उत्पादकता बहुत ज्यादा प्रभावित होती है

जैसे सनफ्लावर की खेती में जब सनफ्लावर को लगाया जाता है तब उसकी कटाई के बाद आगामी फसल की रोपाई  हेतु 20 दिन का अंतराल रखा जाता है अगर ऐसा नहीं किया जाता है तब दूसरा फसल की जड़ों द्वारा सनफ्लावर की जड़ों द्वारा उत्पादित रसायन को अवसोसित कर ली जाएंगी और दूसरी फसल की विकास और वृद्धि प्रभावित होगी तो अब सनफ्लावर की जड़ द्वारा उत्पादित रसायन एलीलोपैथी कहलाएंगे

सूरजमुखी की खेती के बाद 20 दिन का अंतराल रखने की वजह से दो प्रकार के लाभ होंगे

  • आगामी फसल सूरजमुखी की एलोपैथी प्रभाव से बच जाता है
  • सूरजमुखी की तीव्र सड़न से मृदा में उपस्थित नाइट्रोजन का खनिजीकरण हो जाता है

एलीलोपैथी के प्रकार

True Allelopathy

हानिकारक पदार्थ किसी पौधे से उसी अवस्था में निकल कर सीधे ही किसी पौधे को प्रभावित करती है

Functional  Allelopathy

जब किसी पौधे से कोई पदार्थ निकलता है तब मृदा मे उपस्थित  जीवाणु उस पदार्थ को हानिकारक पदार्थ में बदलते हैं जिससे दूसरी फसल के लिए वह हानिकारक हो जाती है

Allelopathy दो प्रकार के प्रभाव दिखाता है

Alloinhibition

जब किसी पौधे द्वारा स्ट्रावित हानिकारक रसायन सिर्फ दूसरे पर हानिकारक प्रभाव डालता है खुद पर  तब इसे  Alloinhibition  कहा जाता है

Autoinhobition

जब किसी पौधे द्वारा स्थापित हानिकारक रसायन खुद को और दूसरों को भी प्रभावित करती है  तब इसे  Autoinhobition  कहा जाता है

conclusion -एलेलोपैथी क्या है

एलीलोपैथी एक प्रकार की प्राकृतिक रसायन संचार है जिसमें एक प्रजाति के वनस्पति अन्य प्रजातियों को नुकसान पहुंचाने वाले रसायनिक पदार्थों को उत्पन्न करती है। इस प्रक्रिया में, एक वनस्पति रसायनिक पदार्थों को उत्पन्न करती है जो अन्य वनस्पतियों को विषाक्त कर सकते हैं या उनकी विकास और वृद्धि को रोक सकते हैं।

“एलेलोपैथी क्या है ” के बारे आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में जरूर क्वेश्चन पूछे हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा, आप हमारे वेबसाइट vigyantk.com पर यू ही आते रहे जहाँ पर हम विज्ञान , प्रोद्योगिकी, पर्यावरण औऱ कंप्यूटर जैसे विषयो पर जानकारी साझा करते है

अन्य भी पढ़े –

Share this

Leave a Comment

vigyantk

VIGYANTK.COM : बायोलॉजी की जानकारी देने वाला आपका पसंदीदा ब्लॉग है। यहां आपको जीव विज्ञान के रोचक तथ्यों, नवीनतम शोध और उपयोगी जानकारी आपको सरल भाषा में मिलेगी।

biology hot view

कोशिका

कोशिका विभाजन

गुणसुत्र

Contact

vigyatk.com

bilaspur ( chattisgarh)